IND vs ENG : लॉर्ड्स में पिछले 7 वर्षों में एशियाई टीमों का शानदार रिकॉर्ड

लंदन| पुनः संशोधित गुरुवार, 9 अगस्त 2018 (15:20 IST)
लंदन। का मक्का कहे जाने वाले पर पिछले सात वर्षों में एशियाई टीमों का बेहतर रिकॉर्ड रहा है और इस रिकॉर्ड से भारतीय टीम इंग्लैंड के खिलाफ गुरुवार से यहां शुरू होने वाले दूसरे टेस्ट में वापसी के लिए प्रेरणा ले सकती है।

इंग्लैंड ने लॉर्ड्स में आखिरी बार किसी को 2011 में हराया था और वह टीम भारत थी। उसके बाद से लॉर्ड्स में इंग्लैंड ने एशियाई टीमों से पांच मैच खेले हैं जिनमें से उसने तीन मैच हारे हैं और दो ड्रॉ खेले हैं।

इंग्लैंड ने जून 2014 में श्रीलंका से मैच ड्रॉ खेला जबकि जुलाई 2014 में उसे भारत से 95 रन से हार का सामना करना पड़ा। भारत ने इस मुकाबले में अजिंक्या रहाणे के 103 रन की मदद से 295 रन बनाए। इंग्लैंड ने गैरी बैलेंस के 110 रन से 319 रन बनाकर पहली पारी में 24 रन की बढ़त हासिल कर ली।
भारत ने दूसरी पारी में मुरली विजय के 95, रवींद्र जडेजा के 68 और भुवनेश्वर कुमार के 52 रन की बदौलत दूसरी पारी में 342 रन बनाए। इंग्लैंड की टीम 319 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए 223 रन पर सिमट गई। इशांत शर्मा ने घातक गेंदबाजी करते हुए 74 रन पर सात विकेट झटके और भारत को जीत दिलाई। इशांत अपनी गेंदबाजी के लिए प्लेयर ऑफ द मैच बने।

जून 2016 में इंग्लैंड ने श्रीलंका से मैच ड्रॉ खेला जबकि जुलाई 2016 में इंग्लैंड को पाकिस्तान के हाथों 75 रन से पराजय का सामना करना पड़ा। इंग्लैंड की टीम मई 2018 में पाकिस्तान से नौ विकेट से पराजित हो गई। इस ट्रेंड को देखा जाए तो भारत के पास लॉर्ड्स में जीतने के मौके बनते हैं। लॉर्ड्स मैदान पर हालांकि भारत का रिकॉर्ड कोई बहुत अच्छा नहीं है। इस मैदान पर भारत ने कुल 17 मैच खेले हैं जिनमें से उसे दो में जीत और 11 में हार मिली है जबकि चार मैच ड्रॉ रहे हैं।
अपने 1000 टेस्ट पूरे कर चुके इंग्लैंड ने क्रिकेट के मक्का में 134 मैच खेले हैं जिनमें से उसे 53 में जीत और 32 में हार मिली है जबकि 49 टेस्ट ड्रॉ रहे हैं। इंग्लैंड के एलेस्टेयर कुक के पास इस मैदान पर 2000 रन पूरे करने का मौका है। कुक लॉर्ड्स पर अब तक 1916 रन बना चुके हैं। इस मैदान पर 2000 रन पूरे करने वाले एकमात्र बल्लेबाज ग्राहम गूच हैं जिन्होंने लॉर्ड्स में 21 मैचों में 2015 रन बनाए हैं।

इंग्लैंड के तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन को लॉर्ड्स पर 100 विकेट हासिल करने वाला पहला गेंदबाज बनने के लिए मात्र छह विकेट की जरूरत है। एंडरसन लॉर्ड्स में अब तक 22 टेस्टों में 94 विकेट ले चुके हैं। (वार्ता)


और भी पढ़ें :