कर भुगतान के मामले में रिलायंस इंडस्ट्रीज अव्वल

नई दिल्ली| Last Updated: सोमवार, 14 अगस्त 2017 (22:32 IST)
नई दिल्ली। मुकेश अंबानी नीत लिमिटेड (आरआईएल) देश में सबसे अधिक भुगतान करने वाली कंपनी है। कंपनी ने पिछले 10 साल के दौरान 2 लाख 88 हजार करोड़ रुपए की कर अदायगी की है।
कंपनी की तरफ से बताया गया है कि पिछले पांच साल के दौरान वह देश में सबसे बड़ी निवेशक भी रही है। इस दौरान उसने 51 अरब डॉलर अर्थात 3 लाख 30 हजार करोड रुपए का निवेश किया है। निवेश में से 2 लाख करोड रुपये से अधिक तो उसने अपनी दूर संचार सेवा कंपनी जियो में लगाया है। इसके अलावा 1 लाख 30 हजार करोड रुपए से अधिक का निवेश ऊर्जा और सामान के कारोबार लगाया गया है।




समूह के कुल मिलाकर ढाई लाख से अधिक कर्मचारी हैं। जियो के जरिए रिलायंस इंडस्ट्रीज ने 50 लाख से अधिक लोगों को प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार मुहैया कराया है। पिछले 10 साल के दौरान उसने 16.8 लाख करोड़ रुपए के उत्पादों का निर्यात किया। रिलायंस फाउंडेशन कंपनी सामाजिक जिम्मेदारी (सीएसआर) के तहत देश में सबसे अधिक खर्च करने वाली कंपनी है। सीएसआर के तहत कंपनी ने 3150 करोड़ रुपए से ज्यादा खर्च किए हैं, जो अनिवार्य शुद्ध मुनाफे के 2 प्रतिशत की तुलना में कहीं अधिक है। (वार्ता)

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :