त्योहारी मांग से सोने में बहार, छह साल के उच्च स्तर पर

नई दिल्ली| पुनः संशोधित रविवार, 4 नवंबर 2018 (11:18 IST)
नई दिल्ली। दीपावली से पहले लिवाली गतिविधियां बढ़ने के बीच सोने में लगातार छठे सप्ताह तेजी जारी रही। बीते सप्ताह में सोना करीब छह वर्ष के उच्चतम स्तर 32,780 रुपए को छूने के बाद सप्ताहांत में 32,650 रुपए प्रति 10 ग्राम पर बंद हुआ। हालांकि चांदी को जरूरी लिवाली समर्थन नहीं मिला और इसकी कीमत में कुछ गिरावट आई।
बाजार सूत्रों ने कहा कि आगामी त्योहार और शादी विवाह के मौसम की वजह से आभूषण निर्माताओं की सतत लिवाली 32,780 रुपए के लगभग छह वर्ष के उच्चतम स्तर पर जा पहुंचा।

वैश्विक स्तर पर सोने की कीमत घट बढ़ के बाद सप्ताहांत में मामूली गिरावट के साथ 1,233.20 डॉलर प्रति औंस पर बंद हुआ जो पिछले सप्ताहांत 1,233.80 डॉलर प्रति औंस थी। चांदी की कीमत भी 14.82 डॉलर प्रति औंस पर लगभग अपरिवर्तित रही।
राष्ट्रीय राजधानी में आभूषण कारोबारियों की कमजोर मांग की वजह से 99.9 और 99.5 प्रतिशत शुद्धता वाले सोने की कीमत छिटपुट लिवाली के बीच शुरूआत में क्रमश: 32,550 रुपए और 32,400 रुपए प्रति 10 ग्राम पर स्थिर रही।

बाद में त्योहारों की वजह से लिवाली में आई तेजी के कारण यह छह वर्ष के उच्चतम स्तर क्रमश: 32,780 रुपए और 32,630 रुपए प्रति 10 ग्राम को छूने के बाद सप्ताहांत में 100-100 रुपए की तेजी दर्शाता क्रमश: 32,650 रुपए और 32,500 रुपए प्रति 10 ग्राम पर बंद हुआ। यह 29 नवंबर 2012 के बाद का उच्चतम स्तर है जब यह बहुमूल्य धातु 32,940 रुपए पर बंद हुआ था।
हालांकि छिटपुट समर्थन मिलने से गिन्नी की कीमत 200 रुपए की तेजी के साथ सप्ताहांत में 24,900 रुपए प्रति आठ ग्राम पर बंद हुई।

इसके विपरीत लिवाली और बिकवाली के झोकों के बीच चांदी तैयार की कीमत घट बढ़ के बाद सप्ताहांत में 70 रुपए की हानि के साथ 39,530 रुपए प्रति किलो पर बंद हुई जबकि चांदी साप्ताहिक डिलीवरी की कीमत 110 रुपए की तेजी के साथ सप्ताहांत में 38,820 रुपए प्रति किलो पर बंद हुई।
दूसरी ओर दीपावाली से पहले मांग बढ़ने के कारण चांदी सिक्कों की कीमत सप्ताहांत में 1,000 रुपए की तेजी के साथ लिवाल 76,000 रुपए और बिकवाल 77,000 रुपए प्रति सैकड़ा रही। (वार्ता)


और भी पढ़ें :