15 अगस्त : उस देश को भारत कहते हैं



- आदर्श ठाकुर

जिस देश का कण-कण सोना हो,
जिस देश की नारी देवी हो,
जिस देश में गंगा बहती है,
उस देश को कहते हैं।

जहां भाई-भाई में प्रेम है,
भाईचारे का नेम है,
जहां जात-पांत का भेद न है,
उस देश को भारत कहते हैं।

जहां नभ से भू का नाता है,
जहां धरा हमारी माता है,
जहां सत्य धर्म मन भाता है,
उस देश को भारत कहते हैं।
साभार- देवपुत्र

ALSO READ:
पर काव्य नाटिका : हिंसा पर अहिंसा की जय...




वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :