कैटरीना कैफ की कामयाबी का राज

Katrina Kaif
IFM
उन लोगों की हमेशा कद्र होती है जो अनुशासित होते हैं, समय का ध्यान रखते हैं और काम को पूरे समर्पण के साथ करते हैं। बॉलीवुड में ऐसे कलाकार बेहद कम हैं, इसलिए जिन कलाकारों में भी यह गुण पाए जाते हैं, वे निर्माता-निर्देशक के बीच लोकप्रिय हो जाते हैं और निर्माता बार-बार उसके साथ फिल्म करना चाहते हैं।

उन कलाकारों में से हैं, जिन्हें प्रोफेशनल आर्टिस्ट कहा जाता है। उनके काम के प्रति समर्पण, अनुशासन और कठिन परिश्रम की तारीफ पूरी इंडस्ट्री करती है, संभवत: यही उनकी कामयाबी का राज है।

कैटरीना की तारीफ करते हुए ‍टिप्स फिल्म के रमेश तौरानी कहते हैं ‘कैटरीना जैसी समर्पित अभिनेत्री शायद ही दूसरी होगी। उनसे जो आशा की जाती है उस पर खरा उतरने के लिए वे कठोर परिश्रम करती हैं। उन्होंने हमारे साथ ‘रेस’ फिल्म की थी, जो हिट हुई थी। उन्हें हमने ‘अजब प्रेम की गजब कहानी’ में एक बार फिर लिया है क्योंकि हम जानते हैं कि वे श्रेष्ठ हैं। कैटरीना के साथ ‍काम करना हमेशा आनंददायी होता है।‘

निर्देशक राजकुमार संतोषी कहते हैं ‘अजब प्रेम की गजब कहानी' की सबसे बड़ी खासियत कैटरीना कैफ हैं। वे नंबर वन स्टार हैं, लेकिन सेट पर वे कोई नखरा नहीं दिखाती हैं। इतनी बड़ी स्टार होने के बावजूद सेट पर सभी तनावरहित महसूस करते हैं।‘

प्रकाश झा की‍ फिल्म में कैटरीना बिना मैकअप के अभिनय कर रही हैं। जहाँ दूसरी नायिकाएँ इस तरह की भूमिका में थोड़ा-सा मैकअप कर ही लेती हैं, वहीं कैटरीना ने इस फिल्म की शूटिंग के दौरान कभी मैकअप करने की जिद नहीं की। कैटरीना के काम से प्रकाश झा इतने प्रभावित हैं कि वे सभी से इस खूबसूरत अभिनेत्री की तारीफ किए बिना नहीं रह पाते।

‘दे दना दन’ के निर्माता रतन जैन कैटरीना की तारीफ करते हुए कहते हैं ‘कैटरीना हर शॉट के लिए खूब मेहनत करती हैं। उनकी जितनी तारीफ की जाए कम है। उनकी उपस्थिति ही फिल्म को खास बना देती है।‘

समय ताम्रकर|
कैटरीना का अभिनय भी फिल्म-दर-फिल्म निखरता जा रहा है। फिल्मों में ज्यादातर ग्लैमरस भूमिका निभाने वाली कैटरीना अब अपनी रोल के साथ कुछ प्रयोग भी करना चाहती हैं।


और भी पढ़ें :