राजस्थान रॉयल्स की नजरें लगातार तीसरी जीत पर

पुनः संशोधित मंगलवार, 17 अप्रैल 2018 (14:54 IST)
जयपुर। आत्मविश्वास से भरी की टीम बुधवार को यहां को हराकर में लगातार तीसरी जीत दर्ज करने की कोशिश करेगी। पहले मैच में सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ करारी शिकस्त के बाद रॉयल्स ने वापसी करते हुए लगातार दो मैच जीते हैं।

रॉयल्स ने वर्षा से प्रभावित मुकाबले में दिल्ली डेयरडेविल्स को 10 रन से हराने के बाद सितारों से सजी रायल चैलेंजर्स बेंगलूर की टीम को उसी के मैदान पर 19 रन से शिकस्त दी। आरसीबी के खिलाफ टीम की जीत के हीरो संजू सैमसन रहे जिन्होंने 45 गेंद में नाबाद 92 रन की पारी खेली थी और टीम को एक बार फिर उनसे अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद होगी।

रॉयल्स की टीम अपनी कुछ खामियों को दूर करने में सफल रही है। सैमसन की अगुआई में टीम के बल्लेबाजी क्रम ने पिछले दो मैचों में प्रभावित किया और कप्तान अजिंक्य रहाणे ने भी उपयोगी योगदान दिया। टीम के गेंदबाज भी विराट कोहली और एबी डिविलियर्स जैसे आरसीबी के दिग्गज खिलाड़ियों के खिलाफ गेंदबाजी के दबाव से निपटने में सफल रहे।

घरेलू मैदान पर रॉयल्स को हराना आसान नहीं होता, लेकिन इसके बावजूद मेजबान टीम को केकेआर के खिलाफ आत्ममुग्धता से बचना होगा, क्योंकि दिनेश कार्तिक की अगुआई वाली टीम ने कल दिल्ली को एकतरफा मुकाबले में हराकर चार मैचों में दूसरी जीत दर्ज की। शीर्ष क्रम में क्रिस लिन और सुनील नारायण के बाद मध्यक्रम में दिनेश कार्तिक, रोबिन उथप्पा, नितीश राणा और आंद्रे रसेल जैसे बड़े हिटर की मौजूदगी से टीम बड़ा स्कोर बनाने में सक्षम है।

पर्पल कैप धारक नारायण, डेविड विली, अनुभवी पीयूष चावला और कुलदीप यादव की मौजूदगी में टीम का गेंदबाजी आक्रमण भी काफी संतुलित है। हाल में अंडर-19 विश्व कप जीतने वाली भारतीय टीम के सदस्य रहे शिवम मावी और रसेल टीम को तेज गेंदबाजी में विकल्प मुहैया कराते हैं।

टूर्नामेंट के व्यस्त कार्यक्रम ने हालांकि केकेआर को इतना थका दिया है कि टीम ने अभ्यास करने की जगह आज आराम करने को तरजीह दी। पिछले मैच में बारिश के कारण ढाई घंटे खेल रुका रहा था, लेकिन इसके बाद से जयपुर में गर्मी काफी बढ़ गई है। विकेट पर नमी की कमी होगी और ऐसे में केकेआर के स्पिनरों को मदद मिल सकती है। (भाषा)

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :