प्लेऑफ की दावेदारी के लिए पंजाब-कोलकाता में होगी जोरदार टक्कर

Last Updated: शनिवार, 12 मई 2018 (11:42 IST)
इंदौर। आईपीएल 11 के प्लेऑफ की दावेदारी के लिए अब हर मैच 'करो या मरो' का मुक़ाबला बनता जा रहा है। किंग्स इलेवन पंजाब और के बीच शनिवार को होने वाले मुकाबले में दावेदारी पुख्ता करने के लिए जोरदार टक्कर होगी।

पंजाब की टीम 10 मैचों में छह जीत और 12 अंकों के साथ तालिका में तीसरे स्थान पर है और प्लेऑफ के लिए उसे शेष चार मैचों में से दो मैच में जीत की जरूरत है। दूसरी तरफ कोलकाता के 11 मैचों में पांच जीत और 10 अंक हैं। कोलकाता के लिए अब हर मुकाबला 'करो या मरो' का मुकाबला बन गया है। उसे प्लेऑफ में जाने के लिए शेष तीनों मैच जीतने हैं।

पंजाब को इस मैच के बाद रॉयल्स चैलेंजर्स बेंगलुरु, मुंबई इंडियंस और चेन्नई सुपरकिंग्स से खेलना है जबकि केकेआर को इस मैच के बाद राजस्थान रॉयल्स और सनराइजर्स हैदराबाद से खेलना है। इस मुकाबले में दिनेश कार्तिक की टीम कोलकाता को जीत की सख्त जरूरत है क्योंकि इसे हारने की सूरत में उसे बाकी बचे दोनों मैच जीतने होंगे और बाकी टीमों के मैचों के परिणाम पर नजर रखनी होगी।

कोलकाता की टीम ने मुंबई इंडियंस से अपना पिछले मुकाबला 102 रन के बड़े अंतर से गंवाया था और उससे पहले भी वह मुंबई इंडियंस से 13 रन से हारी थी। कोलकाता और पंजाब के बीच पिछले मुकाबला कोलकाता के ईडन गार्डन मैदान में हुआ था जिसमें पंजाब ने डकवर्थ लुइस नियम के तहत नौ विकेट से जीत हासिल की थी। पंजाब की टीम भी अपना पिछले मुकाबला जयपुर में राजस्थान के हाथों 15 रन से गंवाने के बाद इस मुकाबले में उतर रही है।

हालांकि पंजाब ने में अपने पिछले मुकाबले में राजस्थान को छह विकेट से हराया था। दोनों टीमें इस मैच से अपनी स्थिति मजबूत करना चाहेंगी ताकि आगे के मैचों के लिए अगर मगर की स्थिति से बच सकें। इसे देखते हुए मुकाबला काफी दिलचस्प होने की उम्मीद है। इस मुकाबले में दिनेश कार्तिक की टीम कोलकाता को जीत की सख्त जरूरत है क्योंकि इसे हारने की सूरत में उसे बाकी बचे दोनों मैच जीतने होंगे और बाकी टीमों के मैचों के परिणाम पर नजर रखनी होगी।

कोलकाता की टीम ने मुंबई इंडियंस से अपना पिछला मुकाबला 102 रन के बड़े अंतर से गंवाया था और उससे पहले भी वह मुंबई इंडियंस से 13 रन से हारी थी। कोलकाता और पंजाब के बीच पिछला मुकाबला कोलकाता के ईडन गार्डन मैदान में हुआ था जिसमें पंजाब ने डकवर्थ लुइस नियम के तहत नौ विकेट से जीत हासिल की थी। पंजाब की टीम भी अपना पिछला मुकाबला जयपुर में राजस्थान के हाथों 15 रन से गंवाने के बाद इस मुकाबले में उतर रही है।

हालांकि पंजाब ने इंदौर में अपने पिछले मुकाबले में राजस्थान को छह विकेट से हराया था। दोनों टीमें इस मैच से अपनी स्थिति मजबूत करना चाहेंगी, ताकि आगे के मैचों के लिए अगर-मगर की स्थिति से बच सकें। इसे देखते हुए मुकाबला काफी दिलचस्प होने की उम्मीद है। (वार्ता)


और भी पढ़ें :