IPL-10:फाइनल का टिकट कटाने के लिए भिड़ेंगे मुंबई-पुणे

पुनः संशोधित सोमवार, 15 मई 2017 (20:32 IST)
मुंबई। इंडियन प्रीमियर लीग में 'खिताबी हैट्रिक' का सपना देख रही इंडियन्स बुधवार को अपने घरेलू मैदान पर 10वें संस्करण के फाइनल का टिकट कटाने के लिए पहले क्वालिफायर मुकाबले में से भिड़ेगी।





आईपीएल ट्वंटी 20 टूर्नामेंट में मुंबई की टीम सफल टीमों में हैं, जिसने दो बार वर्ष 2013 और 2015 में चैंपियन बनने का गौरव हासिल किया है। वर्ष 2010 में मुंबई यहां उपविजेता भी रही थी और आईपीएल के 10वें संस्करण में भी उसने कमाल का प्रदर्शन करते हुए बाकी टीमों को खुद से आगे निकलने नहीं दिया। मुंबई लीग के 14 मैचों में सर्वाधिक 10 जीतकर 20 अंकों के साथ शीर्ष पर रही है।





वहीं लीग में मात्र अपना दूसरा संस्करण ही खेल रही पुणे की टीम ने कई अनुभवी टीमों को चौंकाते हुए पहली बार प्लेऑफ में जगह बनाई है और वह 14 मैचों में नौ जीतकर 18 अंकों के साथ दूसरे नंबर पर रही। महाराष्ट्र की इन दो घरेलू टीमों के बीच निश्चित ही पहले क्वालिफायर में कांटे की टक्कर देखने को मिलेगी जहां मुंबई अपनी इसी लय को कायम रखते हुए फाइनल में जगह बनाने की कोशिश करेगी तो पुणे भी सीधे ही फाइनल में जगह बनाना चाहेगी।



आईपीएल में दो शीर्ष टीमों में रहते हुए हालांकि दोनों टीमों के लिए इस बात का फायदा है कि जीतने वाली टीम सीधे फाइनल में प्रवेश कर लेगी तो वहीं हारने वाली टीम के पास क्वालिफायर दो खेलने का मौका रहेगा। लेकिन अपनी कप्तानी में मुंबई को दो बार चैंपियन बना चुके रोहित की कोशिश रहेगी कि वह अपने घरेलू वानखेड़े मैदान पर परिस्थितियों का फायदा उठाते हुए जीत दर्ज करें।




हालांकि यह दिलचस्प तथ्य है कि मुंबई की टीम ने इस बार अपने घरेलू वानखड़े स्टेडियम पर सात मैच खेले हैं और उसमें से केवल दो ही हारे हैं, जिसमें एक मैच उसने पुणे से बड़े ही रोमांचक अंदाज में तीन रन से गंवाया था जबकि दूसरे मैच में उसे पंजाब ने सात रन से हराया था।




वहीं मुंबई और पुणे इस बार आईपीएल में दो बार एक दूसरे से मुकाबला कर चुकी हैं जिसमें पुणे की टीम दो बार की विजेता टीम पर भारी पड़ी है और उसने टूर्नामेंट के उद्घाटन मैच में ही मुंबई को अपने घरेलू मैदान पर सात विकेट से हरा दिया था। इसके बाद पुणे ने मुंबई को उसी के मैदान पर तीन रन से हराया था।




पुणे के हाथों पिछले दोनों मुकाबले हारने के बाद मुंबई के पास इस अहम मुकाबले में बदला चुकता करने का मौका रहेगा तो वहीं कप्तान स्टीवन स्मिथ की पुणे मेजबान टीम के खिलाफ जीत की हैट्रिक के साथ फाइनल में सीधे प्रवेश के लक्ष्य का प्रयास करेगी। पुणे ने बाकी टीमों की तुलना में काफी धैर्य और संयम के साथ प्लेऑफ का सफर तय किया है और शुरुआती उतार चढ़ाव के बावजूद वह दूसरे नंबर पर रही।

पुणे ने अपने आखिरी लीग मैच में किंग्स इलेवन पंजाब को नौ विकेट से एकतरफा अंदाज में हराया था और इस जीत ने उसके मनोबल को प्लेऑफ से पहले काफी बढ़ाया था। पंजाब की टीम को पुणे के गेंदबाजों ने मात्र 73 रन पर ढेर कर दिया था और जयदेव उनादकट, शार्दुल ठाकुर, बेन स्टोक्स, डेनियल क्रिस्टिन और एडम जम्पा ने इस मैच में कमाल का प्रदर्शन किया था।





आईपीएल में अब तक पुणे के लिए उनादकट और इमरान ताहिर 21 और क्रमश: 18 विकेट लेकर सबसे सफल गेंदबाज रहे हैं। इसके बाद स्टोक्स(12 विकेट) टीम के तीसरे सबसे सफल गेंदबाज हैं तो वहीं टीम के पास संतुलित बल्लेबाजी क्रम है जिसमें दुनिया के जबरदस्त बल्लेबाज और कप्तान स्मिथ, अनुभवी विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी, अजिंक्या रहाणे, राहुल त्रिपाठी, मनोज तिवारी और स्टोक्स शामिल हैं।





गेंद के साथ साथ स्टोक्स ने बल्लेबाजी में भी हमेशा योगदान दिया है और अपनी यादगार 103 रन की पारी तथा एक अर्धशतक के साथ वह 12 लीग मैचों में 316 रन बनाकर तीसरे सबसे सफल स्कोरर हैं। उनसे आगे स्मिथ (420) सबसे आगे हैं जबकि त्रिपाठी (388) दूसरे नंबर पर हैं। धोनी भी निरंतर अच्छा खेल रहे हैं और 61 रन की अर्धशतकीय पारी के साथ 14 मैचों में उन्होंने 240 रन बनाए हैं और मुंबई के सामने उनके अनुभव की काफी अहमियत रहेगी।





मुंबई को दो बार पुणे ने हराया है इसलिए निश्चित ही टीम के कप्तान और स्टार सपोर्ट स्टाफ इस बार विपक्षी टीम के खिलाफ बेहतर रणनीति और कमजोरियों में सुधार करेंगे। मुंबई ने पिछले मैच में कोलकाता को नौ रन से रोमांचक तरीके से हराया था और वह भी लय में है।





रोहित, कीरोन पोलार्ड, नीतीश राणा, पार्थिव पटेल तथा पांड्या बंधू उसके ताकतवर खिलाड़ी हैं। कैरेबियाई बल्लेबाज पोलार्ड (362 रन), नीतीश (333) तथा पटेल (325) लीग में उसके तीन सर्वश्रेष्ठ स्कोरर रहे हैं, वहीं गेंदबाजों में उसके पास टिम साउदी, मिशेल जॉनसन, कर्ण शर्मा और हार्दिक तथा क्रुणाल और हरभजन सिंह के रूप में अच्छे खिलाड़ी हैं और वह परिणाम के लिए किसी एक पर निर्भर नहीं है। मिशेल मैक्केलेनेगन (18 विकेट) और जसप्रीत बुमराह (15 विकेट) उसके दो सफल गेंदबाज हैं और निश्चित ही ये खिलाड़ी इस बार पुणे को हावी होने से रोकने में अहम साबित होंगे।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
Widgets Magazine



और भी पढ़ें :