Widgets Magazine

IPL-10 : कर्ण और बुमराह के कहर से मुम्बई फाइनल में

Last Updated: शनिवार, 20 मई 2017 (00:32 IST)

कर्ण शर्मा (16 रन पर चार विकेट) 
बेंगलुरु। लेग स्पिनर कर्ण शर्मा (16 रन पर चार विकेट) और तेज गेंदबाज (सात रन पर तीन विकेट) की घातक गेंदबाजी से मुम्बई इंडियंस ने को दूसरे क्वालिफायर में शुक्रवार को छह विकेट से ध्वस्त कर के खिताबी मुकाबले में प्रवेश कर लिया।
            
मुम्बई ने कोलकाता को 18.5 ओवर में मात्र 107 रन पर ढेर करने के बाद 14.3 ओवर में चार विकेट के नुकसान पर 111 रन बनाकर शानदार जीत अपने नाम की और फाइनल में स्थान बनाया, जहां रविवार को उसका मुकाबला पहली बार फाइनल में पहुंचे राइजिंग पुणे सुपरजाएंट्स से होगा।
             जसप्रीत बुमराह (सात रन पर तीन विकेट) 
2013 और 2015 में दो बार खिताब जीत चुकी मुम्बई की टीम चौथी बार फाइनल में पहुंची है। मुम्बई 2010 में उपविजेता रही थी। इस हार के साथ दो बार के चैंपियन कोलकाता का तीसरी बार फाइनल में पहुंचने का सपना टूट गया। कोलकाता का बल्लेबाजी में बेहद खराब प्रदर्शन रहा और उसके शीर्षक्रम के बल्लेबाजों ने निर्णायक मौकों पर अपने हथियार डाल दिए।
             
छोटे लक्ष्य का पीछा करते हुए मुम्बई ने लेंडल सिमंस (3), पार्थिव पटेल (14) और अंबाटी रायुडू (6) के विकेट 34 रन तक गवां दिए। लेग स्पिनर पीयूष चावला ने सिमंस और रायुडू को आउट किया जबकि उमेश यादव ने पटेल का विकेट लिया लेकिन इसके बाद कप्तान रोहित शर्मा (26) और क्रुणाल पांड्या (नाबाद 45) ने चौथे विकेट के लिए 54 रन की साझेदारी कर मुम्बई को जीत के रास्ते पर डाल दिया।
            क्रुणाल पांड्या (नाबाद 45) 
रोहित ने 24 गेंदों की पारी में एक चौका और एक छक्का लगाया। रोहित का विकेट नाथन काॅल्टर नाइल ने लिया। पांड्या ने 30 गेंदों में सात चौकों की मदद से नाबाद 45 और कीरोन पाेलार्ड ने नाबाद नौ रन बनाकर मुम्बई को फाइनल की मंजिल पर पहुंचा दिया। विजयी चौका लगते ही मुम्बई का पूरा खेमा खुशी से उछल पड़ा और सभी खिलाड़ियों ने हाथ मिलाकर एक-दूसरे को बधाई दी।
 
इससे पहले लेग स्पिनर कर्ण शर्मा (16 रन पर चार विकेट) की घातक गेंदबाजी के दम पर मुम्बई इंडियंस ने कोलकाता नाइटराइडर्स को 18.5 ओवर में मात्र 107 रन पर ढेर कर दिया। कर्ण ने अपनी सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी करते हुए चार ओवर में 16 रन देकर सुनील नारायण, गौतम गंभीर, इशांक जग्गी और कोलिन डी ग्रैंडहोम को पवेलियन का रास्ता दिखाया।
           
कोलकाता की तरफ से जग्गी ने 28 और सूर्य कुमार यादव ने 31 रन बनाए, जिसकी बदौलत कोलकाता की टीम 100 रन पर कर सकी। जसप्रीत बुमराह ने तीन ओवर में मात्र सात रन देकर तीन विकेट और मिशेल जॉनसन ने चार ओवर में 28 रन देकर दो विकेट झटके।
           
टॉस हारने के बाद कोलकाता की शुरुआत खौफनाक रही और 31 रन तक पहुंचते-पहुंचते उसके शीर्ष पांच बल्लेबाज पैवेलियन लौट गए। लेग स्पिनर कर्ण शर्मा ने कोलकाता को सबसे ज्यादा नुकसान पहुंचाया। कर्ण ने अपनी बेहतरीन गुगली से सुनील नारायण को स्टंप करा दिया। नारायण बड़ा शॉट खेलने के चक्कर में बाहर निकल आए और आसानी से स्टंप हो गए। नारायण ने 10 गेंदों में 10 रन बनाए।
          
कर्ण ने सातवें ओवर की पांचवी गेंद पर कोलकाता के कप्तान गौतम गंभीर को सीमा रेखा पर हार्दिक पांड्या के हाथों कैच करा दिया। गंभीर 15 गेंदों में 12 रन ही बना सके। कर्ण ने अगली गेंद पर कोलिन डी ग्रैंडहोम को पगबाधा कर दिया।
         
कोलकाता को पहला झटका दूसरे ओवर में ही लग गया जब जसप्रीत बुमराह ने क्रिस लिन को कीरोन पोलार्ड के हाथों कैच करा दिया। लिन चार रन ही बना सके। बुमराह ने रोबिन उथप्पा को पगबाधा किया। उथप्पा एक रन ही बना सके।
          
लिन का विकेट पांच, नारायण का विकेट 24, उथप्पा का विकेट 25, गंभीर का विकेट 31 और ग्रैंडहोम का विकेट 31 के स्कोर पर गिरा। दस ओवर तक कोलकाता का स्कोर 43 रन ही पहुंच पाया। इशांक जग्गी और सूर्यकुमार यादव ने स्थिति को संभालने की कोशिश करते हुए छठे विकेट के लिए 7.5 ओवर में 56 रन की अच्छी साझेदारी की। दोनों ने इस दौरान कई अच्छे शॉट खेले।
         
मुंबई के कप्तान रोहित शर्मा ने इस साझेदारी को तोड़ने के लिए अपने सबसे सफल गेंदबाज कर्ण को मोर्चे पर लगा दिया। कर्ण ने अपने कप्तान को निराश नहीं किया और जग्गी को सीमारेखा पर जॉनसन के हाथों लपकवाकर कोलकाता को छठा झटका दे दिया। कोलकाता का छठा विकेट 14.5 ओवर में 87 के स्कोर पर गिरा। जग्गी ने 31 गेंदों तीन चौकों की मदद से 28 रन बनाए। कर्ण का यह चौथा विकेट था। कर्ण ने चार ओवर में मात्र 16 रन देकर चार विकेट झटक लिए।
          
बाएं हाथ के तेज गेंदबाज जॉनसन ने 17वें ओवर में पीयूष चावला और नाथन कोल्टर नाइल को पैवेलियन का रास्ता दिखा दिया। चावला ने दो और कोल्टर नाइल ने छह रन बनाए। बुमराह ने 18 वें ओवर में सूर्य का शिकार कर लिया। सूर्य ने 25 गेंदों में दो चौकों और एक छक्के की मदद से 31 रन बनाए। कोलकाता की पारी 18.5 ओवर में 107 रन पर सिमट गई। लसिथ मलिंगा ने अंकित राजपूत को आउट कर कोलकाता की पारी समेट दी। मलिंगा को 24 रन पर एक विकेट मिला।
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
Widgets Magazine
Widgets Magazine