पाकिस्तान के स्कूलों में कुरान की शिक्षा अनिवार्य

इस्लामाबाद| Last Updated: गुरुवार, 20 अप्रैल 2017 (08:05 IST)
इस्लामाबाद। की नेशनल असेंबली ने बुधवार को सरकारी स्कूलों में कक्षा 1 से 12 तक पढ़ने वाले मुस्लिम छात्रों को अनिवार्य तौर पर कुरान पढ़ाये जाने से जुड़ा विधेयक पारित कर दिया।
संघीय शिक्षा और व्यावसायिक प्रशिक्षण राज्य मंत्री बलीघुर रहमान ने सदन में 'पाक कुरान अनिवार्य शिक्षा विधेयक 2017' पेश किया। इसमें कहा गया कि कक्षा 1 से 5 के छात्र पवित्र कुरान को अरबी भाषा में पढ़ेंगे जबकि कक्षा 6 से 12 के छात्र सरल उर्दू में अनुवाद के साथ अरबी भाषा में इसे पढ़ेंगे। मंत्री ने साफ किया कि यह विधेयक सिर्फ मुस्लिम छात्रों के लिए है।

इस विधेयक के कानून बनने के लिए इस पर राष्ट्रपति ममनून हुसैन के दस्तखत की जरूरत होगी। (भाषा)

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :