इंडोनेशिया में चर्चों पर आत्मघाती हमले, 11 की मौत

सुराबया| पुनः संशोधित रविवार, 13 मई 2018 (21:55 IST)
सुराबया। इंडोनेशिया के दूसरे सबसे बड़े शहर सुराबया में सवार आत्मघाती हमलावरों ने 3 चर्चों में धमाके किए। इस दौरान 11 लोगों की मौत हो गई जबकि दर्जनों अन्य घायल हो गए। हाल के समय में अल्पसंख्यक ईसाइयों को निशाना बनाकर किया गया यह सबसे भीषण हमला था। आत्मघाती हमलावरों में बच्चा लिए एक महिला भी शामिल थी।
पुलिस प्रवक्ता फ्रांस बारुंग मांगेरा ने मौके पर मौजूद संवाददाताओं को बताया कि पहला हमला सुराबया में सांता मारिया रोमन कैथोलिक में हुआ। इसमें 4 लोगों की मौत हो गई जिसमें एक या उससे ज्यादा हमलावर थे। उन्होंने कहा कि इन हमलों में घायल कुल 41 लोगों में से 2 पुलिसकर्मी भी हैं। मानगेरा ने कहा कि इसके कुछ ही मिनटों बाद दीपोनेगोरो के क्रिश्चियन चर्च में दूसरा धमाका हुआ।

तीसरा धमाका शहर के पंटेकोस्टा चर्च में हुआ। इस वारदात के बाद राष्ट्रपति जोको जोकोवी विदोदो भी पूर्वी जावा प्रांत की राजधानी सुराबया पहुंचे। यह सन् 2000 में क्रिसमस की पूर्व संध्या पर चर्चों पर हुए हमले के बाद सबसे भीषण हमला है। उस हमले में 15 लोगों की मौत हुई थी और 100 से ज्यादा घायल हुए थे। इंडोनेशिया में धार्मिक अल्पसंख्यकों और खासकर ईसाइयों को बार-बार निशाना बनाया जाता रहा है। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि बम धमाके कम से कम 5 आत्मघाती हमलावरों ने अंजाम दिए जिनमें एक नकाबपोश महिला और उसके साथ 2 बच्चे भी शामिल थे।

मीडिया से बातचीत के लिए अधिकृत नहीं होने की वजह से अधिकारी ने अपना नाम जाहिर नहीं किया। एक प्रत्यक्षदर्शी ने बच्चे के साथ आई महिला के बारे में कहा कि वह दीपानेगोरो चर्च में 2 बैग लेकर गई थी। एंटोनियस नाम के एक गार्ड ने बताया कि अधिकारियों ने पहले उन्हें चर्च के अहाते में रोका लेकिन महिला उनकी अनदेखी करती हुई जबरन अंदर चली गई और अचानक उसने एक नागरिक को गले लगा लिया और तभी धमाका हो गया। सांता मारिया चर्च में कांच और कांक्रीट का मलबा बिखरा हुआ था और पुलिसकर्मियों ने इस इमारत को सील कर रखा था।

राहतकर्मियों ने पास के खेत में पीड़ितों का इलाज किया जबकि अधिकारियों ने धमाके के बाद पार्किंग स्थल में जली हुई मोटरसाइकलों का मुआयना किया। चर्च के बाहर एक फेरीवाली ने कहा कि जबर्दस्त धमाके की वजह से वह कई मीटर दूर छिटक गई।

उसने कहा कि उसने मोटरसाइकल सवार 2 लोगों को चर्च के अहाते में जाते देखा। एक ने काली पेंट पहन रखी थी और दूसरे ने पीठ पर बैग लाद रखा था। इंडोनेशिया चर्च एसोसिएशन ने हमलों की कड़े शब्दों में निंदा की है। राष्ट्रीय पुलिस प्रवक्ता सेत्यो वासिस्तो ने घोषणा की कि पुलिस ने रविवार की सुबह पश्चिमी जावा में 4 संदिग्धों को मार गिराया और 2 अन्य को गिरफ्तार किया है। अभी यह स्पष्ट नहीं है कि यह अभियान चर्च पर हुए हमलों से जुड़ा था या नहीं? (भाषा)

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :