तीसरे विश्वयुद्ध में मानव सभ्‍यता को बचाएंगे अंतरिक्ष केंद्र...

पुनः संशोधित सोमवार, 12 मार्च 2018 (17:18 IST)
वॉशिंगटन। तीसरे विश्वयुद्ध की सूरत में चन्द्रमा और मंगल ग्रह पर स्थापित किए गए केंद्र मानव सभ्यता को संरक्षित करने और पृथ्वी पर तेज गति से जीवन को वापस लाने में मदद कर सकते हैं। कम से कम अरबपति उद्यमी इलोन मस्क का तो ऐसा ही मानना है।

यान और रॉकेट बनाने वाली कंपनी स्पेसएक्स के संस्थापक मस्क ने कहा कि कंपनी का अंतरग्रहीय यान अगले साल से पहले-पहले विमानों का परीक्षण शुरू कर देगा। मस्क ने एसएक्सएसडब्ल्यू सम्मेलन में कहा कि 'कुछ संभावना' है कि एक और अंधकार युग हो सकता है, खासकर अगर तीसरा विश्वयुद्ध होता है तो। उन्होंने कहा कि हम सुनिश्चित करना चाहते हैं कि सभ्यता को वापस लाने के लिए कहीं-न-कहीं मानव सभ्यता की पर्याप्त जड़ें मौजूद रहें और संभवत: अंधकार युग की अवधि को भी कम कर पाए।

मस्क ने कहा कि मेरे ख्याल से चन्द्रमा और मंगल पर बने केंद्र बेहद महत्वपूर्ण हैं, जो संभवत: धरती पर फिर से जीवन लाने में मदद करेंगे। स्पेसएक्स ने पिछले महीने विश्व के सबसे शक्तिशाली रॉकेट 'फाल्कन हैवी' का प्रक्षेपण किया था। (भाषा)

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :