लघुकथा : बेखबर फासले...



सहजता से चल रही की गृहस्थी में बेखबर फासले दस्तक दे चुके थे। मन के किसी कोने में दोनों ही एक अलगाव-सा महसूस कर रहे थे, पर इसे व्यक्त करने से वे बचते थे।

दस साल की भरी-पूरी खुशहाल जिंदगी में इन फासलों ने दस्तक तब दी, जब एक दिन अचानक ही राजन का रवि उनके घर आया। फिर तो यह क्रम ही बन गया। रवि का रोज-रोज घर आना रमा और उसकी युवा होती बेटी को कतई पसंद नहीं था, पर राजन की खुशी के लिए न चाहते हुए भी वह रवि के स्वागत-सत्कार में कोई कमी नहीं करती।
रवि बेरोजगार होने के बावजूद खुलकर जीवन जीने का आदी था। घर से धनाढ्य होने के कारण फिजूलखर्ची उसके स्वभाव में थी। जब-तब वह कुछ न कुछ उपहार लाता रहता। राजन उसकी इस दरियादिली का कायल था और इस बात से वह पूरी तरह बेखबर था कि रवि की दोस्ती उसके में बड़ा फासला लेकर आने वाली है।
रमा आने वाले इस बेखबर फासले को भांप चुकी थी और इशारे ही इशारे में वह राजन को आगाह भी कर चुकी थी पर राजन, रमा की बात को हंसी में उड़ा देता जिससे रमा सदैव ही असहज रहती। यही असहजता उन दोनों के बीच फासले में बदलती जा रही थी।

समय निकलता गया और राजन, रवि के रंग-ढंग में ढलता गया। अब देर रात नशे में चूर होकर घर लौटना उसकी दिनचर्या बन गई। रमा उसे समझाती, पर राजन को कोई फर्क नहीं पड़ता था। जान से ज्यादा चाहने वाली युवा बेटी को भी अब वह जब-तब दुत्कार दिया करता था जिससे पिता-पुत्री के रिश्ते में भी फासले बढ़ते जा रहे थे।

रमा इन हालातों से बहुत अवसाद में रहने लगी। उसका जब-तब बीमार पड़ जाने का भी राजन और रवि पर कोई असर नहीं हुआ। एक दिन मां-बेटी ने राजन के सामने ही रवि को खूब खरी-खोटी सुनाई और उसके घर आने पर रोक लगा दी।

रवि ने इसे अपने अहम का प्रश्न बना लिया और अब बाहर ही राजन को ज्यादा से ज्यादा शराब पिलाने लगा। अपनी जिंदगी और मौत के बीच घटते जा रहे फासले से बेखबर रवि के लिवर ने जवाब दे दिया और अंतत: एक दिन वह अपनी दुनिया से रुखसत हो गया।
रमा सोचती ही रह गई कि कैसा था राजन के लिए उसका यह दोस्त जिसने उन दोनों के बीच वह फासला ला दिया, जो अब कभी पाटा नहीं जा सकता।


वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :

दुर्घटनाएं अमावस्या और पूर्णिमा पर ही क्यों होती है? आइए ...

दुर्घटनाएं अमावस्या और पूर्णिमा पर ही क्यों होती है? आइए जानते हैं यह रहस्य-
पूर्णिमा के दिन मोहक दिखने वाला और अमावस्या पर रात में छुप जाने वाला चांद अनिष्टकारी होता ...

क्या आपका बच्चा भी अंगूठा चूसता है? तो हो जाएं सावधान, जान ...

क्या आपका बच्चा भी अंगूठा चूसता है? तो हो जाएं सावधान, जान लें नुकसान
शायद ऐसा कोई व्यक्ति नहीं होगा, जिसने किसी बच्चे को अंगूठा चूसते हुए कभी न देखा हो। अक्सर ...

यही है वह मौसम जब शरीर का बदलता है तापमान, रहें सावधान, ...

यही है वह मौसम जब शरीर का बदलता है तापमान, रहें सावधान, जानें वजह और बचाव के उपाय
मौसम आ गया है कि आपको चाहे जब लगेगा हल्का बुखार। तो क्या घबराने की कोई बात है? जी नहीं, ...

प्रेशर कुकर में नहीं कड़ाही में पकाएं खाना, जानिए क्यों...

प्रेशर कुकर में नहीं कड़ाही में पकाएं खाना, जानिए क्यों...
अगर आप से पूछा जाए कि प्रेशर कुकर में या कड़ाही खाना बनाना बेहतर है तो आप तुरंत प्रेशर ...

मलाईदार नारियल क्रश, सेहत के यह 8 फायदे पढ़कर रह जाएंगे दंग

मलाईदार नारियल क्रश, सेहत के यह 8 फायदे पढ़कर रह जाएंगे दंग
आजकल मार्केट में नारियल पानी से ज्यादा नारियल क्रश को पसंद किया जा रहा है। इसकी बड़ी वजह ...

खतरे में है भारत की सांस्कृतिक अखंडता और विरासत

खतरे में है भारत की सांस्कृतिक अखंडता और विरासत
भारत देश एक बहु-सांस्कृतिक परिदृश्य के साथ बना एक ऐसा राष्ट्र है जो दो महान नदी ...

'समग्र' के सलाहकार मंडल में शामिल हुए रूसेन कुमार

'समग्र' के सलाहकार मंडल में शामिल हुए रूसेन कुमार
स्वच्छता क्षेत्र के अग्रणी संगठन- समग्र सशक्तिकरण फाउंडेशन ने इंडिया सीएसआर नेटवर्क के ...

कितने सीजेरियन या सी-सेक्शन झेल सकती है एक मां?

कितने सीजेरियन या सी-सेक्शन झेल सकती है एक मां?
अब जमाना ऐसा है कि आप चाहकर भी सी-सेक्शन से बच नहीं पाते। कभी जटिल परिस्थितियां और कभी नई ...

जल्दी वजन कम करना है तो ये 5 फल खाना कर दें शुरू

जल्दी वजन कम करना है तो ये 5 फल खाना कर दें शुरू
क्या बढ़ा हुआ वजन आपकी भी समस्या बन चुका है? हर वक्त आपके मन में चलता रहता है कि कैसे इस ...

क्या आपको भी आ रही है लड़कों जैसी 'दाढ़ी-मूंछ', तो करें ये ...

क्या आपको भी आ रही है लड़कों जैसी 'दाढ़ी-मूंछ', तो करें ये उपाय
चेहरे पर कील-मुंहासे व दाग-धब्बे जितने खराब लगते हैं, उतने ही छोटे-छोटे बालों का चेहरे पर ...