हिन्‍दी निबंध - 26 जनवरी

Widgets Magazine

Essays on Republic Day
 
FILE
की उपलब्धि गर्व करने लायक

मजबूत लोकतंत्र है। यह गर्व करने लायक उपलब्धि है। बहुत सारे विदेशी प्रेक्षकों का मानना था कि भारत एक देश के रूप में ज्यादा समय तक टिक नहीं पाएगा या भाषायी समूह अपने अलग राष्ट्र की मांग करेगा और उसके टुकड़े-टुकड़े हो जाएंगे। परंतु यह सारी आशंकाएं निर्मूल साबित हुई हैं।

आजादी से अब तक 13 आम चुनाव हो चुके हैं और राज्यों तथा स्थानीय निकायों के लिए सैकड़ों चुनाव हो चुके हैं। हमारे यहां स्वतंत्र प्रेस है और एक स्वतंत्र न्यायपालिका है। लेकिन बात पूरी तरह से इतराने की नहीं है।

स्वतंत्रता के समय तय की गई कसौटियों के हिसाब से देखें तो भारतीय गणतंत्र बहुत बड़ी सफलता का दावा नहीं कर सकता। लेकिन यह भी सच है कि वह विफल नहीं हुआ है।

Republic Day 2013
 
FILE
आज हमारे देश के सामने कई समस्याएं हैं। उनमें से बड़ी है बेरोजगारी की समस्या। बेरोजगारी के कारण देश के युवकों-युवतियों में भारी असंतोष और बेचैनी पाई जाती है। देश की आवश्यकताओं के अनुसार शिक्षा प्रणाली में सुधार किया जाए। यही नहीं जनसंख्या पर नियंत्रण भी इस समाधान में बड़ी सहायता कर सकती हैं।

भ्रष्टाचार - सहानुभूति एवं भ्रष्टाचार की समस्या भी बड़ी है। भ्रष्टाचार मानव को अपने पंजे में दबोच रहा है। भ्रष्टाचार को रोकने के लिए समाज में पुनः नैतिक मूल्यों की स्थापना करनी होगी। भ्रष्टाचार को रोकने के लिए कठोर दण्ड व्यवस्था होनी चाहिए।

महंगाई - महंगाई ने भी आम आदमी की कमर तोड़ दी है। काला-बाजारी तथा जमाखोरी से महंगाई बढ़ती है। पॉकेटमारी, चोरी तथा डकैती जैसी घटनाओं में वृद्धि का कारण नैतिक मूल्यों में गिरावट ही है जो महंगाई से पनपती है। तमाम समस्याओं के बावजूद हमने कई दिशाओं में तरक्की भी की है। आज का युग विज्ञान के चमत्कारी आविष्कारों का युग है।

- दीप्ति (कक्षा 8)


वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iTunes पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।


Widgets Magazine
Widgets Magazine
सम्बंधित जानकारी
Widgets Magazine
news

यूनान की पौराणिक कथा : वासंती मौसम और फलेरी

वसंत का मौसम सचमुच कितना खुशनुमा लगता है। वन में, बगियों में रंग-बिरंगे फूल खिले रहते ...

news

बाल कविता : हाथी की शामत

किया अपहरण हाथीजी ने, चींटी का बेटा हर लाया। उसे छोड़ने के बदले में, रुपए एक करोड़ ...

news

बाल साहित्य : मेरी प्रतिज्ञा...

आज से मेरी यही प्रतिज्ञा, रोज सुबह उठ जाऊंगा।। पहले घर में पढ़ा करूंगा, फिर स्कूल को ...

news

जानिए चाणक्य नीति की सूक्तियां

आचार्य चाणक्य महान विभूति थे, उन्होंने अपनी विद्वत्ता और क्षमताओं के बल पर भारतीय इतिहास ...

Widgets Magazine

लाइफ स्‍टाइल

प्रवासी साहित्य : तीन छक्के

तब न समझती थी कभी, इस घर को अपना, अब समझती है इस घर को, बस अपना-अपना। बस अपना-अपना, नहीं कहने में ...

बाल साहित्य : बच्चे आए झाड़ू लेकर

बच्चे आए झाड़ू लेकर, भारत स्वच्छ करेंगे। गली-गली में पड़ीं पन्नियां, सड़क-सड़क पर कचरा है। भारत देश ...

Widgets Magazine

जरुर पढ़ें

अपने आप से कहें - आई लव यू

स्वयं की खूबियों का आकलन करने के लिए आत्मनिरीक्षण का सबसे अच्छा यही तरीका है। जरूरी है कि बखूबी इसे ...

अकबर-बीरबल की आधुनिक कथा...

हाल ही की बात है। अकबर-बीरबल सभा में बैठकर आपस में बात कर रहे थे। अकबर : मुझे इस राज्य से पांच ...

लाजवाब चटपटे केले के पेटिस

सबसे पहले पके हुए केले के छिलकों को पानी में उबाल कर, पानी निथार लें। फिर इसमें बेसन, मसाले, कटी ...

Widgets Magazine