गाय : हिन्दी में सरल निबंध


एक बहुउपयोगी पशु है जिसका वैज्ञानिक एवं अध्यात्मिक दृष्टि से बड़ा महत्व है। विज्ञान ने भी गाय की महत्ता को स्वीकार किया है।

गाय के दूध को अमृत माना गया है। भारत में गाय को एक पवित्र पशु माना गया है। भारत में करोड़ों हिंदु गाय की पूजा करते हैं। गाय की सबसे बड़ी विशेषता यह है कि यह मानव जाति को बहुत कुछ देती है बदले में कुछ नहीं मांगती। कई परिवार गाय के दूध व घी को बेचकर अपना जीवन यापन करते हैं।

: हिंदुओं के तीज-त्योहार बिना गौ के घी के पूरे नहीं होते। तीज त्योहार के दिन घर को गौ के गोबर से ही लीपा जाता है। उस पर देवताओं की प्रतिमाओं को बैठाया जाता है। कई लोग किसी जरूरी काम को करने से पहले गाय के दर्शन को बड़ा शुभ मानते हैं। वहीं गाय के गोबर को खेती के लिए बहुत उपयोगी माना गया है। गाय के अमृत जैसे दूध देने व अन्य गुणों के चलते इसे धरती माता के समान पूज्य माना गया है। इसीलिए गाय को गौ माता कहा जाता है।

इसके अलावा गांवों में गाय के गोबर से बने कंडे का इस्तेमाल ईंधन के रूप में किया जाता है। यह बहुत दुख की बात है कि प्रोद्योगिकी के विकास के साथ हम गाय की महत्ता को भूलते जा रहे हैं। भगवान कृष्ण की जिंदगी में भी गाय का बड़ा महत्व रहा है। कृष्ण का बचपन ग्वालों के बीच बीता। उन्हें लोग गोविंदा व गोपाल कहके बुलाते थे जिसका मतलब होता है गायों का रक्षक व दोस्त।


गाय का दूध बच्चों एवं रोगियों के लिए बहु-उपयोगी होता है। गाय स्वभाव से शांत होती है। गाय का बहुत बड़ा शरीर होता है। इसके चार पैर, दो सींग और एक लंबी पूंछ होती है। इसके दो कान होते हैं। भारत में लोग गाय की पूजा करते हैं। गाय की पूंछ के निचले हिस्से में ढेर सारे बाल होते हैं। जो कई रंग के होते हैं जिनमें लाल रंग के साथ काले,भूरे और सफेद रंग के बाल होते हैं। गाय के जबड़े के नीचे हिस्से में बस दांत होते हैं। उसके पैर के खुर अलग-अलग होते हैं।

गाय कई प्रकार की होती हैं। रंग के आधार पर भी गायों के अनेक प्रकार हैं। कुछ काली होती है तो कुछ सफेद वहीं कुछ गाय लाल एवं मिश्रित रंगों की होती है। गाय विश्व के लगभग हर देश में पाई जाती है। हर देश में गाय आकार एवं लंबाई-चौड़ाई के आधार पर अलग-अलग होती हैं।

जंगली गाय जंगल में रहती हैं। गाय घास व पेड़ों की पत्तियां खाती है। वह एक समय में एक बछड़े या बछड़ी को जन्म देती है। वह अपने बछड़े को बहुत प्यार करती है। गाय बैठकर अपने मुंह से जुगाली भी करती है। गाय दूध देती है जिससे दही,पनीर,मक्खन और कई प्रकार के मिष्ठान बनाए जाते हैं। हमें ऐसे प्यारे अच्छे पशु का ख्याल रखना चाहिए।


वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :

डेंटिस्ट को टाटा कहिए, चमकते दांत चाहिए तो फलों से दोस्ती ...

डेंटिस्ट को टाटा कहिए, चमकते दांत चाहिए तो फलों से दोस्ती कीजिए
घर बैठे ही प्राकृतिक तरीके से यानी फलों का इस्तेमाल कर दांतों की सफेदी वापस पा सकते हैं। ...

क्या आपका पेट भी भरा भरा रहता है? हियेटल हर्निया हो सकता ...

क्या आपका पेट भी भरा भरा रहता है? हियेटल  हर्निया हो सकता है इसका कारण
कई लोगों में पेट से जुड़ी एक गंभीर समस्या होती है जिसमें पेट भरा भरा लगना, भारीपन, पेट से ...

बालों पर हेयर ड्रायर का इस्तेमाल करते हैं, तो हो जाएं ...

बालों पर हेयर ड्रायर का इस्तेमाल करते हैं, तो हो जाएं सावधान, पढ़ें 7 जरूरी बातें
जरा बचकर करें हेयर ड्रायर का इस्तेमाल बहुत सी लड़कियां नहाने के बाद बालों को सुखाने के लिए ...

मार्मिक कविता : नन्ही अभिलाषा

मार्मिक कविता : नन्ही अभिलाषा
कुछ पल तो नादानी करने दे मां इस दुनिया में मुझे ढलने दे मां मैं कली तेरी निर्मल बगिया की‍ ...

नई कविता : जीवन स्वप्न है...

नई कविता : जीवन स्वप्न है...
बड़ा सुंदर स्वप्न है जीवन अद्‍भुत मनोरम झण है जीवन कभी अबूझ पहेली सा तो कभी पारदर्शी है ...

अगर 4 साल उम्र बढ़ाना चाहते हैं तो मान लीजिए ये 5 बातें...

अगर 4 साल उम्र बढ़ाना चाहते हैं तो मान लीजिए ये 5 बातें...
भारत जैसे देश में यदि लोग अपनी उम्र के औसतन चार साल और बढ़ाना चाहते हैं तो उसे विश्व ...

कैसे चल रहे हैं प्रधानमंत्री के सितारे, जानिए मोदी के लिए ...

कैसे चल रहे हैं प्रधानमंत्री के सितारे, जानिए मोदी के लिए कैसा होगा आने वाला समय ?
जन्मपत्रिका के माध्यम से किसी भी जातक का अतीत, वर्तमान और भविष्य बताया जा सकता है, फिर ...

आप बिल्कुल नहीं जानते होंगे सफेद मूसली के ये 7 स्वास्थ्य

आप बिल्कुल नहीं जानते होंगे सफेद मूसली के ये 7 स्वास्थ्य लाभ
पौराणिक लेख और कई अत्याधुनिक शोधों ने इस बात को प्रमाणित किया है कि सफेद मूसली एक ...

नागपंचमी पर ऐसे करें नागपूजन और विसर्जन, पढ़ें विशेष ...

नागपंचमी पर ऐसे करें नागपूजन और विसर्जन, पढ़ें विशेष प्रार्थना और मंत्र...
नागपंचमी के दिन प्रात:काल स्नान करने के उपरान्त शुद्ध होकर यथाशक्ति (स्वर्ण, रजत, ताम्र) ...

17 अगस्त को हो रहा है सूर्य का राशि परिवर्तन, जानिए किन ...

17 अगस्त को हो रहा है सूर्य का राशि परिवर्तन, जानिए किन राशि‍यों की बदलने वाली है किस्मत ...
सूर्यदेव नवग्रहों के राजा हैं। सिंह राशि के स्वामी हैं। अग्नितत्व प्रधान ग्रह हैं। कुंडली ...