अश्वत्थामा मारा गया किंतु अश्वत्थामा अमर है

सुशोभित सक्तावत|
अश्वत्थामा का अमरत्व वर्षों से अनेक मिथकों का हिस्सा रहा है। बचपन से ही हम अश्वत्थामा की अमरता की कहानियां सुनते आए हैं। यदा-कदा अख़बारों, टीवी और सोशल मीडिया में यह भी उल्लेख मिलता रहा है कि अश्वत्थामा को कहीं देखा गया और उसकी पहचान में वर्ण‍ित उसके जाति चिह्नों के आधार पर की गई। वैसे भी भारत का मन मिथकजीवी है और इस तरह के मिथकों में रमना उसको भाता है।
 
इसके बावजूद जहां महाभारत के शेष पात्रों पर अनेक काव्य और गल्पकृतियां रची जा चुकी हैं, अश्वत्थामा को केंद्र में रखकर वैसी कोई पुस्तक अभी तक प्रस्तुत नहीं की जा सकी थी। की पुस्तक "अश्वत्थामा" इस कमी को पूरा करती है और महाभारत के इस विस्मृत नायक को फिर से हमारी कल्पनाओं में जीवंत बना देती है।
 
यह पुस्तक अश्वत्थामा के जीवन पर एक उपन्यास है, जिसे स्वयं अश्वत्थामा के दृष्ट‍िकोण से यानी प्रथम पुरुष में लिखा गया है। के पन्ने उलटते हुए बहुधा ऐसा जान पड़ता है इसमें गल्प की लय उतनी उभरकर सामने नहीं आ पाई है, जितनी कि अपेक्षा की जानी चाहिए और अगर आशुतोष गर्ग अन्य पुरुष में यह पुस्तक लिखने का प्रयास करते तो संभवत: एक अधिक वस्तुनिष्ठ आख्यान हमारे हाथों में होता। इसके बावजूद आशुतोष की किताब अश्वत्थामा के जीवन पर मिथकों, कथाओं, सच्चाइयों और कल्पनाओं का एक अनूठा संकलन है और पुस्तक के लिए किया गया गहन शोध इसके हर पन्ने पर झलकता है।
 
आशुतोष गर्ग ने अश्वत्थामा को "महाभारत का शापित योद्धा" कहकर पुकारा है। यही उनकी किताब का उपशीर्षक भी है। हम सभी जानते हैं कि अश्वत्थामा का अमरत्व उसको मिला एक अभिशाप था, जो अमरत्व के बारे में पूर्व-निर्मित रोमानी कल्पनाओं को ध्वस्त करता है। अश्वत्थामा इस संसार-चक्र का चिर नागरिक है और महाभारत के काल से आज तक घटित हुए अनेकानेक युगों का साक्षी रहा है। हम अश्वत्थामा को एक कालयात्री भी कह सकते हैं। 
 
श्रीकृष्ण ने अश्वत्थामा को अभिशाप दिया था, किंतु क्या उसका अपराध इतना बड़ा था भी। अश्वत्थामा की छवि एक कुटिल और दुराचारी नायक की बना दी गई है, जो कि दुर्योधन का सहयोगी था । लेकिन क्या यह सच है। आशुतोष गर्ग की किताब अश्वत्थामा के जुड़े इन अनेक कौतूहलों का संधान करती है। 
 
पौराणिक उपन्यासों में मराठी के शिवाजी सावंत, गुजराती के कन्हैयालाल माणिकलाल मुंशी और हिंदी में नरेंद्र कोहली ने जो लक़ीर खींची है, उन मानदंडों के अनुकूल स्वयं को सिद्ध कर पाना तो ख़ैर हर युवा रचनाकार के लिए एक दुष्कर कसौटी है, फिर भी आशुतोष गर्ग ने एक प्रयास किया है। हमें इस प्रयास का स्वागत करना चाहिए। 
 
साथ ही महाभारत में धर्मराज युधिष्ठ‍िर द्वारा बोले गए सबसे बड़े असत्य की कथा के साथ जिस अश्वत्थामा का मिथक जुड़ा है, उसके अंतर्सत्यों की पड़ताल अर्धसत्यों के इस युग में आगे भी की जाती रहेगी, यह आशा नहीं करने का भी कोई कारण दिखाई नहीं देता। अस्तु।
 
पुस्तक : अश्वत्थामा 
लेखक : आशुतोष गर्ग 
प्रकाशक : मंजुल पब्ल‍िशिंग हाउस 
पृष्ठ : 184
मूल्य : 175 रुपए मात्र

Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :

जींस खरीदने से पहले यह जानना बहुत जरूरी है

जींस खरीदने से पहले यह जानना बहुत जरूरी है
जब जींस पहनने की शुरुआत हुई थी तब यह फैशन को ध्यान में रखते हुए नहीं हुई थी और न ही इसे ...

बस 1 हफ्ते में त्वचा के काले धब्बे गायब, पपीते का फैस पैक ...

बस 1 हफ्ते में त्वचा के काले धब्बे गायब, पपीते का फैस पैक करेगा जादू
पपीता आपकी पाचन क्रिया को संतुलित रखने के साथ-साथ आपके चेहरे को भी बेदाग बनाता है।

सनग्लासेस पहनने के 4 फायदे...

सनग्लासेस पहनने के 4 फायदे...
सही चश्‍मा पहनते ही हम एकदम से स्टाइलिश और फैशनेबल दिखने लगते हैं। चश्मे हमें केवल अच्छा ...

आपके मन को लुभाएगी ये पारंपरिक चिल्ड शाही ड्रायफ्रूट्स ...

आपके मन को लुभाएगी ये पारंपरिक चिल्ड शाही ड्रायफ्रूट्स लस्सी, पढ़ें सरल विधि
सबसे पहले ताजा दही लेकर उसमें शक्कर, आधी ड्रायफ्रूट्स की कतरन, केसर व बर्फ डालकर मिक्सी ...

ऐसा देसी डाइट प्लान जिससे भयंकर मोटे बॉलीवुड एक्टर्स ने ...

ऐसा देसी डाइट प्लान जिससे भयंकर मोटे बॉलीवुड एक्टर्स ने अपना वज़न कम कर सबको हैरान कर दिया और आज हैं बिलकुल फिट
और इसी आदत के चलते इंडियंस अपना वेट लॉस देशी डाइट के साथ भी कर सकते हैं, पर डाइट प्लान के ...

गंगा दशहरा पर पारंपरिक शाही मीठे चूरमे से लगाएं गंगा मैया ...

गंगा दशहरा पर पारंपरिक शाही मीठे चूरमे से लगाएं गंगा मैया को भोग, पढ़ें सरल विधि...
सबसे पहले गेहूं के आटे में घी का अच्छा मोयन देकर कड़ा सान लें। फिर इसकी मुठियां बना लें। ...

हरड़ एक ऐसी औषधि है, जो 100 रोगों का नाश करती है

हरड़ एक ऐसी औषधि है, जो 100 रोगों का नाश करती है
हरड़ एक अत्यंत लाभकारी औषधि है। यह शरीर के 100 से अधिक रोगों का नाश करती है। आइए जानें ...

क्या आपने कभी बनाई है सत्तू की यह मिठाई, अगर नहीं तो अवश्य ...

क्या आपने कभी बनाई है सत्तू की यह मिठाई, अगर नहीं तो अवश्य बनाएं...
सबसे पहले मैदे को दूध के छींटे डाल-डालकर गीला कर लें। फिर किसी बर्तन में 1-2 घंटे दबाकर ...

कैसे होते हैं कर्क राशि वाले जातक, जानिए अपना व्यक्तित्व...

कैसे होते हैं कर्क राशि वाले जातक, जानिए अपना व्यक्तित्व...
हम वेबदुनिया के पाठकों के लिए क्रमश: समस्त 12 राशियों व उन राशियों में जन्मे जातकों के ...

अगर पति-पत्नी में हो रहा है खूब कलह तो यह 4 उपाय कराएंगे ...

अगर पति-पत्नी में हो रहा है खूब कलह तो यह 4 उपाय कराएंगे सुलह
यह उपाय उन पति-पत्नी के लिए हैं जो साथ में रहना तो चाहते हैं, एक दूजे से प्यार भी खूब ...