रसीले जूस : हर बीमारी को रखें दूर

फरवरी और मार्च में ठंड के बिदा लेते दिन और गर्मी की आहट देते दिन मिलाजुला अनुभव देते हैं। इसी मौसम में याद आने लगती है रसीले शरबतों की। आइए जानते हैं कि कौन से ज्यूस किस बीमारी में लाभदायक हैं....

व्हीट ग्रास जूस- विटमिन ए, बी, सी और मिनरल्स-युक्त, डिटॉक्सीफिकेशन, कैंसर, त्वचा व दांत संबंधी परेशानियों, एनीमिया में लाभदायक।

अस्थमा- मुलैठी का पानी

एनीमिया- वेजटेबल जूस गाजर+बंद गोभी+सेलेरी+चुकंदर+पालक+व्हीट ग्रास जूस

एनॉरेक्सिया नर्वोसा : कैरट जूस, छाछ, ऑरेंज और लाइम जूस के अलावा सेब और अनन्नास जैसे फल
अर्थराइटिस-ऑस्टियोपरोसिस
: वेजटेबल जूसगाजर + सेलेरी + चुकंदर का जूस

सिरोसिस- सेब, नाशपाती, अनन्नास जूस

कोलाइटिस-पपीते का जूस, छाछ-मठ्ठा और बेल का जूस

कॉन्स्टीपेशन- पालक का सूप, पका अमरूद, नाशपाती, सेब, एलोवेरा जूस

डायबिटीज- सेलेरी, खीरा, प्याज, लहसुन, करेला, मेथी बीज

डायरिया- ऑरेंज जूस, कैरट सूप, जीरा पानी
हेयर फॉल- लैट्यूस+स्पिन्च जूस

फटीग- चुकंदर, गाजर का जूस, खीरे का रस गाउट- सेब, अंजीर, बींस सूप

हार्ट प्रॉब्लम्स-पानी के साथ शहद, आंवला जूस, सेब, बादाम हाइपरटेंशन- लहसुन, आंवला जूस, खीरे का जूस, घीया जूस

हाइपरटेंशन- चुकंदर जूस, छाछ, वेजटेबल सूप, नींबू-पानी

डाइजेशन प्रॉब्लम-अनन्नास जूस, लेमन जूस।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :