दही हो जाता है ज़हर, जब उसमें डालते हैं नमक, पढ़ें हैरान कर देने वाला सच


हम में से कई लोगों को आदत होती है डाल कर खाने की... आयुर्वेद के विशेषज्ञ कहते हैं कि यह आदत खतरनाक है क्योंकि बन जाता है, आइए जानें विस्तार से क्या है इस दावे का सच...
पिछले दिनों दिनों एक ही चर्चा सामने आई है कि दही को अगर खाना है, तो हमेशा मीठी चीज़ों के साथ खाना चाहिए, जैसे चीनी, गुड़ या बूरे के साथ।

आयुर्वेद कहता है कि इसे आप स्वयं जान सकते हैं कि क्यों दही नमक के साथ ज़हर हो जाता है....

जब दही को लैंस की सहायता से देखा जाता है तो उसमें असंख्य बैक्टेरिया चलते फिरते
नजर आते हैं। यह बैक्टेरिया जीवित अवस्था में ही हमारे शरीर में जाने चाहिए, क्योंकि जब हम दही खाते हैं तो हमारे अंदर एंजाइम प्रोसेस सुचारू रूप से चलता है।
हम दही को केवल इन्हीं बैक्टेरिया के लिए खाते हैं। दही को आयुर्वेद की भाषा में जीवाणुओं का घर माना जाता है, एक कप दही में आपको करोड़ों जीवाणु नजर आएंगे।

अगर आप दही में एक चुटकी नमक मिला लें तो एक मिनट में सारे बैक्टीरिया मर जाएंगे और उनके मृत शरीर हमारे भीतर जाएंगे जो हमारे किसी काम नहीं आएंगे। अगर आप 100 किलो दही में एक चुटकी नामक डालेंगे तो दही के सारे बैक्टीरियल गुण खत्म हो जाएंगे क्योंकि नमक में जो केमिकल्स है वह जीवाणुओं के दुश्मन है।

आयुर्वेद में कहा गया है कि दही में ऐसी चीज़ मिलाएं, जो उसमें मौजूद जीवाणुओं की संख्या बढ़ाए ना कि खत्म करें।

दही को गुड़ के साथ खाइये, गुड़ डालते ही जीवाणुओं की संख्या दो गुनी हो जाती है और वह सेहत के लिए फायदेमंद हो जाता है।

अगर दही में मिश्री को डाला जाए तो यह सोने पर सुहागे का काम करेगी।

भगवान कृष्ण भी दही को मिश्री के साथ ही खाते थे।



वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :

कविता : श्रावण माह में शिव वंदना

कविता : श्रावण माह में शिव वंदना
शिव है अंत:शक्ति, शिव सबका संयोग। शिव को जो जपता रहे, सहे न कभी वियोग। शिव सद्गुण विकसित ...

कपल्स के लिए अब बच्चे नहीं रहे प्राथमिकता, कुछ है जो इससे ...

कपल्स के लिए अब बच्चे नहीं रहे प्राथमिकता, कुछ है जो इससे भी जरूरी है....
बदलते वक्त के साथ अब महिलाओं की प्रेग्‍नेंसी को लेकर सोच भी काफी बदल गई है। आज की महिलाएं ...

ये रहा कैंसर का प्रमुख कारण, इसे रोक लिया तो समझो कैंसर की ...

ये रहा कैंसर का प्रमुख कारण, इसे रोक लिया तो समझो कैंसर की छुट्टी
बीमारी कितनी ही बड़ी क्यों न हो, सही इलाज और सावधानियां अपनाकर इस पर जीत पाई जा सकती है। ...

कविता : नहीं चाहिए चांद

कविता : नहीं चाहिए चांद
मुझे नहीं चाहिए चांद/और न ही तमन्ना है कि सूरज कैद हो मेरी मुट्ठी में

तीन तलाक : शांति अब शोर में तब्दील हो चुकी है

तीन तलाक : शांति अब शोर में तब्दील हो चुकी है
जिस तरह से संसार में दो ही चीजें दृश्य हैं, प्रकाश और अंधकार। उसी तरह श्रव्य भी दो ही ...

नागपंचमी की 2 रोचक और प्रचलित कथाएं

नागपंचमी की 2 रोचक और प्रचलित कथाएं
किसी राज्य में एक किसान परिवार रहता था। किसान के दो पुत्र व एक पुत्री थी। एक दिन हल जोतते ...

नागपंचमी पर पढ़ें पौराणिक और पवित्र कथा,जब सर्प ने भाई बन ...

नागपंचमी पर पढ़ें पौराणिक और पवित्र कथा,जब सर्प ने भाई बन कर की बहन की रक्षा
सर्प ने प्रकट होकर कहा- यदि मेरी धर्म बहन के आचरण पर संदेह प्रकट करेगा तो मैं उसे खा ...

15 अगस्त 2018 को मनाया जाएगा नागपंचमी का पर्व भी, जानें ...

15 अगस्त 2018 को मनाया जाएगा नागपंचमी का पर्व भी, जानें पूजा का मुहूर्त और विधि
श्रावण मास की शुक्‍ल पक्ष की पंचमी को पूरे उत्‍तर भारत में नागपंचमी का पर्व मनाया जाता ...

इस साल 26 अगस्त को राखी का त्योहार, जानिए पर्व मनाने की ...

इस साल 26 अगस्त को राखी का त्योहार, जानिए पर्व मनाने की विधि और पवित्र मंत्र
रक्षाबंधन का शुभ पर्व इस वर्ष 26 अगस्त को हैं। आइए जानें इसे मनाने की पौराणिक और सरल विधि ...

बढ़ती उम्र में मां बनने जा रही है तो हो जाएं सावधान, हो सकते ...

बढ़ती उम्र में मां बनने जा रही है तो हो जाएं सावधान, हो सकते है ये खतरे
यदि आप किन्ही कारणों से देरी से मां बनने का निर्णय ले रही है तो आपको इसके जोखिम और परिणाम ...