भारत के 10 रहस्यमय जंगल, जानिए कौन से...

अनिरुद्ध जोशी 'शतायु'| Last Updated: बुधवार, 10 दिसंबर 2014 (11:25 IST)
संकलन : अनिरुद्ध जोशी 'शतायु' रहस्यों से भरे हैं भारत के जंगल। जंगल में रहना बहुत ही रोमांचक और खतरों से भरा है। भारत कई प्रकार के जंगली जीवों का, अनेक पेड़-पौधों और पशु-पक्षियों का घर है। घने जंगल और ऊंचे-ऊंचे पहाड़ों के कारण यह देश धरती का सबसे सुंदरतम स्थान है। तप और ध्यान करने के लिए प्राचीनकाल में भारत सबसे उपयुक्त स्थान हुआ करता था। भारत के मध्य में स्थित 'दंडकारण्य' में हजारों ऋषियों के आश्रम थे और यहां दुनिया की सबसे प्राचीन गुफाएं और प्राचीन नगर के अवशेष आज भी मौजूद हैं।>
> भयानक संकट : दुनिया के करीब 7 अरब से ज्यादा लोगों को प्राणवायु प्रदान करने वाले जंगल आज खुद अपने अस्तित्व को बचाए रखने के लिए संघर्ष कर रहे हैं। संसार में पौधों की 2,50,000 ज्ञात प्रजातियों में से 15,000 प्रजातियां भारत में मिलती हैं। जीव-जंतुओं की कुल 15 लाख प्रजातियों में से 75,000 प्रजातियां भारत में पाई जाती हैं। पक्षियों की 1,200 प्रजातियां और 900 उप-प्रजातियां पाई जाती हैं। लेकिन अब कई पशु और पक्षियों की प्रजातियां लुप्त हो रही हैं। लकड़ी के वैध और अवैध कारोबार के चलते जंगल नष्ट होते जा रहे हैं। जंगलों की दुर्दशा के चलते शेर, चीते सहित अन्य कई जंगली जानवरों का अस्तित्व अब संकट में है।
भारत के जंगलों में शानदार हाथी की चिंघाड़, मोर का नाच, ऊंट की सैर, शेरों की दहाड़, लाखों पक्षियों की चहचहाहट सुनने और देखने को मिलेगी। भारत में जंगली जीवों की बहुत बड़ी संख्या है। यहां जंगली जीवों को देखने देश-विदेश से पर्यटक आते हैं। भारत में 70 से अधिक राष्ट्रीय उद्यान और 500 से अधिक जंगली जीवों के अभयारण्य हैं इसके अतिरिक्त पक्षी अभयारण्य भी हैं। आओ जानते हैं भारत के प्रमुख 10 अभयारण्य...

प्रमुख 10 के अलावा सैकड़ों जंगल हैं जिनमें प्रमुख हैं- नंदादेवी राष्ट्रीय अभयारण्य (उत्तराखंड), फूलों की घाटी (उत्तराखंड), पन्ना नेशनल पार्क (मध्यप्रदेश), पेंडारी जू (छत्तीसगढ़), भीतरकर्णिका राष्ट्रीय उद्यान (ओडिशा), सरगुजा के तैमोर पिंगला अभयारण्य (छत्तीसगढ़), पलामू अभयारण्य (झारखंड), दाल्मा वन्यजीव अभयारण्य (झारखंड), हजारीबाग वन्यजीव अभयारण्य (झारखंड), कैमूर वन्यजीव अभयारण्य (बिहार), नल सरोवर अभयारण्य (गुजरात), दुधवा राष्ट्रीय उद्यान (उत्तरप्रदेश), चंद्रप्रभा अभयारण्य (उत्तरप्रदेश), भद्रा अभयारण्य (कर्नाटक), सोमेश्वर अभयारण्य (कर्नाटक), तुंगभद्रा अभयारण्य (कर्नाटक), पाखाल वन्यजीव अभयारण्य (आंध्रप्रदेश), कावला वन्यजीव अभयारण्य (आंध्रप्रदेश), मानस राष्ट्रीय उद्यान (असम), घाना पक्षी विहार (राजस्थान), रणथम्भौर अभयारण्य (राजस्थान), कुंभलगढ़ अभयारण्य (राजस्थान), पेंच राष्ट्रीय उद्यान (मध्यप्रदेश), तंसा भयारण्य (महाराष्ट्र), बोरिविली राष्ट्रीय उद्यान (महाराष्ट्र), अबोहर अभयारण्य (पंजाब), चिक्ला अभयारण्य (ओडिशा), सिम्लिपाल अभयारण्य (ओडिशा), वेदांतगल अभयारण्य (तमिलनाडु), इंदिरा गांधी अभयारण्य (तमिलनाडु), मुदुमलाई अभयारण्य (तमिलनाडु), डाम्फा अभयारण्य (मिजोरम), पेरियार अभयारण्य (केरल), पराम्बिकुलम अभयारण्य (केरल), पंचमढ़ी अभयारण्य (मध्‍यप्रदेश), डाचिगम राष्ट्रीय उद्यान (जम्मू-कश्मीर), किश्तवाड़ राष्ट्रीय उद्यान (जम्मू-कश्मीर), बांधवगढ़ राष्ट्रीय उद्यान (मध्यप्रदेश), नागरहोल राष्ट्रीय उद्यान (कर्नाटक), पेंडारी जू (मध्यप्रदेश), पखुई वन्य जीवन अभयारण्य (अरुणाचल), सुल्तानपुर झील अभयारण्य (हरियाणा), रोहिला राष्ट्रीय उद्यान (हिमाचल), भगवान महावीर उद्यान (गोवा), नोंगखाइलेम अभयारण्य (मेघालय), कीबुल लामजाओ राष्ट्रीय उद्यान (मणिपुर) आदि। इनमें से एक भी हमारी टॉप टेन की लिस्ट में नहीं है। अगले पन्ने पर पढ़िए टॉप टेन जंगलों के बारे में।

अगले पन्ने पर पहला जंगल...



वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
Widgets Magazine



और भी पढ़ें :