ऐसे बिगाड़ा हमने पर्यावरण को...


पूरे विश्व में समान रूप से मनाया जाने वाला उत्सव कहें, दिवस कहें या फिर पुण्यतिथि... वर्तमान परिस्थिति के अनुसार मनुष्य ने का जो हाल किया है उसे देखते हुए तो यही कहा जा सकता है कि साल में एक दिन मनाने और पौधे लगाने से, प्रकृति के प्रति किए गए मनुष्य के पाप कम नहीं हो सकते। बल्कि प्रकृति के स्वरूप को विकृत करने के पश्चाताप के रूप में हमें हर दिन हर समय पर्यावरण के प्रति संरक्षण की भावना को अपने जीवन में उतारना होगा अन्यथा इसके परिणाम भी हम बगैर प्रकृति को कोसे, भुगतने को तैयार रहें।
माना कि विश्व स्तर पर के लिए कदम उठाए जा रहे हैं लेकिन इस पर हमें, समाज को और पूरे विश्व को चिंतन करने की आवश्यकता है कि ईश्वर ने हमें जो उपहार प्रकृति के रूप में दिया था, क्या हम उसे उसके मूल स्वरूप में बरकरार रख पाए।

अपने स्वार्थ साधने के लिए हमने कितनी बार इसके स्वरूप को विकृत किया। यही प्रकृति हमारी जीवनदायिनी प्राथमिकता थी जिसे हमने अन्यान्य स्वार्थ के लिए नजरअंदाज कर दिया और वर्तमान में इसके परिणाम भी भुगत रहे हैं। आइए, एक नजर डालते हैं हमारे स्वार्थ निहित कृत्यों पर ....

1. और : हमने अपने जीवन को आरामदायक बनाने के लिए वर्षा होने में सहायक, हवादार, छायादार और हरे-भरे वृक्षों की कटाई कर डाली। जंगल जला डाले। नतीजा है अनियमित वर्षा और तपती धरती के रूप में हमारे सामने।
हरे-भरे जंगलों को इंडस्ट्री में तब्दील कर हम स्वच्छंद प्राणवायु लेने के भी हकदार नहीं रहे और सांस लेने के लिए भी प्रदूषित वायु और उससे होने वाली तमाम तरह की सांस संबंधी बीमारियां हमारी नियति हो गईं। यही नहीं, मृदा अपरदन भी प्रभावित हुआ और मिट्टी का कटान पर फिसलना, चट्टानों का फिसलना जैसी आपदाएं सामने आईं।

2. : बचपन से ही 'जल ही जीवन है' की शिक्षा पाकर भी हम जल का महत्व समझने में पिछड़ गए और प्रदूषण के मामले में इतने आगे निकल गए कि गंगा जैसी शुद्ध और पवित्र नदी को भी प्रदूषित करने से बाज नहीं आए जिसकी सफाई आज भारत सरकार के लिए भी बड़ा मुद्दा है।
कभी स्वच्छता के नाम पर तो कभी धर्म और मान्यताओं के नाम पर हम जल को अतना प्रदूषित कर गए, कि उसे पुन: स्वच्छ करना ही हमारे बस की बात न रही। पृथ्वी का तीन चौथाई हिस्सा जलमग्न है, फिर भी करीब 0.3 फीसदी जल ही पीने योग्य है। विभिन्न उद्योगों और मावन बस्तियों के कचरे ने जल को इतना प्रदूषित कर दिया है कि पीने के करीब 0.3 फीसदी जल में से मात्र करीब 30 फीसदी जल ही वास्तव में पीने के लायक रह गया है। निरंत बढ़ती जनसंख्या, पशु-संख्या, ओद्योगीकरण, जल-स्त्रोतों के दुरुपयोग, वर्षा में कमी आदि कारणों से जल प्रदूषण ने उग्र रूप धारण कर लिया और नदियों एवं अन्य जल-स्त्रोतों में कारखानों से निष्कासित रासायनिक पदार्थ व गंदा पानी मिल जाने से वह प्रदूषित हुआ।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :

जब राहुल गांधी बोले, मैं पहले से शादीशुदा हूं

जब राहुल गांधी बोले, मैं पहले से शादीशुदा हूं
हैदराबाद। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक सवाल के जवाब में सनसनीखेज खुलासा करते हुए ...

सावधान, बंद हो जाएगा SBI का डेबिट कार्ड, 31 दिसंबर से पहले ...

सावधान, बंद हो जाएगा SBI का डेबिट कार्ड, 31 दिसंबर से पहले कर लें यह जरूरी काम
नई दिल्ली। एसबीआई अपने पुराने एटीएम कार्ड को लेकर बड़ा कदम उठाने जा रहा है। बैंक की तरफ ...

बड़ी खबर, अब रेलवे नहीं देगा मुफ्त दुर्घटना बीमा, हादसे में ...

बड़ी खबर, अब रेलवे नहीं देगा मुफ्त दुर्घटना बीमा, हादसे में मौत पर मिलते थे 10 लाख
नई दिल्ली। रेलवे ने ऑनलाइन टिकट बुकिंग सिस्टम में यात्रियों को मुफ्त दुर्घटना बीमा देने ...

जब बाबा रामदेव के साथ 8 लाख की बा‍इक पर निकले जग्गी ...

जब बाबा रामदेव के साथ 8 लाख की बा‍इक पर निकले जग्गी वासुदेव, तोड़े कानून...
कोयंबटूर। सोशल मीडिया पर वाइरल हुए एक वीडियो में बाबा रामदेव और जग्गी वासुदेव एक ही बाइक ...

सियाचिन पर खून जमा देने वाली ठंड से मिलेगी राहत, जवानों के ...

सियाचिन पर खून जमा देने वाली ठंड से मिलेगी राहत, जवानों के लिए देश में ही बनेगी स्पेशल किट
नई दिल्ली। सेना ने एक बड़ा कदम उठाते हुए सियाचिन और डोकलाम में तैनात जवानों के लिए स्पेशल ...

केरल में बाढ़ का कहर, देवदूत बनकर उतरे तटरक्षक बल, बचाई ...

केरल में बाढ़ का कहर, देवदूत बनकर उतरे तटरक्षक बल, बचाई सैकड़ों लोगों की जान
तिरुवनंतपुरम। केरल में शुक्रवार को भी बाढ़ का कहर जारी रहा। भारतीय तटरक्षक बल ने राज्य के ...

स्कूली बच्चे ने एपल को दिया बड़ा झटका, चुराई कई फाइलें

स्कूली बच्चे ने एपल को दिया बड़ा झटका, चुराई कई फाइलें
सिडनी। एपल के साथ काम करने का सपना देखने वाले एक स्कूली बच्चे ने कंपनी के कंप्यूटर सिस्टम ...

गुजरात में एक बार फिर मानसून सक्रिय, अहमदाबाद समेत कई ...

गुजरात में एक बार फिर मानसून सक्रिय, अहमदाबाद समेत कई स्थानों पर भारी वर्षा
अहमदाबद। गुजरात में लगभग एक पखवाड़े के लंबे विराम के बाद मानसून एक बार फिर सक्रिय हो गया ...

पोखरण के महानायक रहे अटल बिहारी वाजपेयी

पोखरण के महानायक रहे अटल बिहारी वाजपेयी
जो जिया हो भारत भारती के लिए, जिसने ताउम्र केवल राष्ट्र को जिया, कविता के शब्दों से संसद ...

केरल में भयावह बाढ़, एक दिन में 100 से अधिक लोगों की मौत

केरल में भयावह बाढ़, एक दिन में 100 से अधिक लोगों की मौत
तिरुवनंतपुरम। केरल में बारिश जनित दुर्घटनाओं में गुरुवार को महज एक दिन में 100 से अधिक ...

नए फीचर्स के साथ फिर आएगा पतंजलि का किम्भो एप, ट्रायल वर्जन ...

नए फीचर्स के साथ फिर आएगा पतंजलि का किम्भो एप, ट्रायल वर्जन ने मचाया था धमाल
नई दिल्ली। योगगुरु बाबा रामदेव के नेतृत्व वाली पतंजलि आयुर्वेद अपने मैसेजिंग एप 'किम्भो' ...

बड़ी खबर, 16 अगस्त से फ्लैश सेल में मिलेगा जियो फोन 2

बड़ी खबर, 16 अगस्त से फ्लैश सेल में मिलेगा जियो फोन 2
मोबाइलप्रेमियों के लिए इस स्वतंत्रता दिवस पर जियो एक बार फिर धमाकेदार तोहफा देने को तैयार ...

सिर्फ 7900 में ले सकते हैं Samsung Galaxy Note 9, और भी ...

सिर्फ 7900 में ले सकते हैं Samsung Galaxy Note 9, और भी धमाकेदार ऑफर
सैमसंग भारत के साथ ही दुनिया भर में अपने फ्लैगशिप फोन Samsung Galaxy Note 9 को लिया है। ...

Sumsung galaxy note 9 और Iphone X, कौनसा स्मार्ट फोन आपके ...

Sumsung galaxy note 9 और Iphone X, कौनसा स्मार्ट फोन आपके लिए है बेहतर
सैमसंग फ्लैगशिप डिवाइस Sumsung galaxy note 9 को लॉन्च दिया है। स्मार्टफोन इंफिनिटी एड्ड ...

लांच होने से पहले ही Galaxy Note 9 के फीचर्स हुए लीक

लांच होने से पहले ही Galaxy Note 9 के फीचर्स हुए लीक
सैमसंग Galaxy Note 9 लांच करने जा रही है। लांच होने से पहले ही इसके कुछ फीचर्स लीक हो गए। ...