0

प्रकृति का संरक्षण स्वयं के अस्तित्व का संरक्षण है...

मंगलवार,जनवरी 16, 2018
0
1
पूंजीवादी अर्थव्यवस्था के उप-उत्पाद के रूप में जन्मी उपभोक्तावादी संस्कृति ने उपभोग को एक सार्वभौमिक मूल्य के रूप में ...
1
2
इस पृथ्वी पर करोड़ों अरबों वर्ष पूर्व जीवों की उत्पति हुई। पृथ्वी पर ही वह वातावरण उपस्थित है जिसके कारण जीवों का ...
2
3
प्रकृति के सानिध्य का सुख समझें। अपने आसपास छोटे पौधें हो या बड़े वृक्ष लगाएं। धरती की हरियाली बढ़ाने के लिए कृतसंकल्प हो ...
3
4
हमारी संस्कृति में सदियों से विभिन्न अवसरों पर वृक्षों को पूजने की परंपराएं प्रतिस्थापित हैं। प्राकृतिक संपदाओं के ...
4
4
5
जो पुण्य अनेकानेक यज्ञ करवाने अथवा तालाब खुदवाने या फिर देवाराधना से भी अप्राप्य है, वह पुण्य महज एक पौधे को लगाने से ...
5
6
लाल किताब में वृक्षों का क्या महत्व है और जातक की कुंडली के अनुसार कौन-कौन-सा वृक्ष लाभकारी है या नहीं, इस बात का ...
6
7
हमारी भारतीय संस्कृति में पेड़ों को देवता के रूप में पूजने की परंपरा रही है। ऐसी मान्यता है कि प्रत्येक व्यक्ति की राशि ...
7
8
हर साल पूरे विश्व में पांच जून को पर्यावरण दिवस के रूप में मनाया जाता है। संयुक्त राष्ट्र द्वारा घोषित यह दिवस पर्यावरण ...
8
8
9
पर्यावरण दिवस, पर्यावरण के प्रति वैश्विक स्तर पर राजनैतिक और सामाजिक जागृति लाने के लिए मनाया जाता है। इसकी शुरुआत 1972 ...
9
10
पूरे विश्व में समान रूप से मनाया जाने वाला उत्सव कहें, दिवस कहें या फिर पुण्यतिथि... वर्तमान परिस्थिति के अनुसार मनुष्य ...
10
11
आज विश्व पर्यावरण दिवस है। जाहिर है शहरों-गांवों में आज अनेक सामाजिक, राजनीतिक संस्थाएं चीख-चीखकर लोगों से पर्यावरण को ...
11
12
हरित गृह (ग्रीन हाउस) गैसों में कार्बन डाईऑक्साइड सबसे प्रमुख गैस है जो आमतौर से जीवाश्म ईधनों के जलने से उत्सर्जित ...
12
13
पर्यावरण शब्द का निर्माण दो शब्दों परि और आवरण से मिलकर बना है, जिसमें परि का मतलब है हमारे आसपास अर्थात जो हमारे ...
13
14
जलवायु परिवर्तन का मुख्य कारण वैश्विक तपन है जो हरित गृह प्रभाव (ग्रीन हाउस इफेक्ट) का परिणाम है। हरित गृह प्रभाव वह ...
14
15
तुम्हारे आंगन में पेड़ होंगे तो उन पर गौरेया घोंसला बनाएंगी...झूले डालने को शाखाएं बची रहेंगी...फल बचे रहेंगे...और ...
15
16
नरेश सक्सेना की कविता : एक वृक्ष बचा रहे संसार में ...
16
17
अब भी समय शेष है, मौसम में ठंडक भी बाकी है | हिमखंडों के पिघलन की परिणति क्या तुमने आंकी है || इससे पहले कि पानी ...
17
18
हिन्दू संस्कृति में प्रत्येक जीव के कल्याण का भाव है। हिन्दू धर्म के जितने भी त्योहार हैं, वे सब प्रकृति के अनुरूप हैं। ...
18
19
पर्यावरण की सुरक्षा एवं गुणवत्ता सुनिश्चित करने के लिए पर्यावरण संरक्षण अधिनियम बनाया गया। इस अधिनियम के तहत कुछ ...
19