ब्‍लॉग-चर्चा : ‘प्रत्‍यक्षा’ का हमनाम ब्‍लॉग

PR
ब्‍लॉग-चर्चा में इस बार हम लेकर आए हैं, हिंदी की जानी-मानी चिट्ठाकार प्रत्‍यक्षा का ब्‍लॉग। ब्‍लॉग भी उनका हमनाम ही है और हिंदी के बहुत शुरुआती ब्‍लॉगों में से एक है। अप्रैल, 2005 से प्रत्‍यक्षा हिंदी चिट्ठाकारिता के दुनिया में सक्रिय हैं और बहुत कुछ लिख रही हैं। इस बार प्रत्‍यक्षा के ब्‍लॉग पर एक नजर :

ब्‍लॉग पर प्रत्‍यक्षा का परिचखुद उनके ही शब्‍दों में :

कई बार कल्‍पनाएँ पंख पसारती हैं.... शब्‍द जो टँगे हैं हवाओं में, आ जाते हैं गिरफ्त में... कोई आकार कोई रंग ले लेते हैं खुद-बखुद... और कोई रेशमी सिरा फिसल जाता है आँखों के भीतर... अचानक ऐसे ही शब्‍दों और सुरों की दुनिया खींचती हैं... रंगों का आकर्षण बेचैन करता है...

प्रत्‍यक्षा ने ब्‍लॉग की शुरुआत तब की, जब इंटरनेट की दुनिया में हिंदी ने अपने पैर पसारने शुरू ही किए थे। इंटरनेट पत्रिका अभिव्‍यक्ति में उनकी एक कहानी प्रकाशित हुई। यहाँ से लिखने का सिलसिला शुरू हुआ। इंटरनेट के साथियों की ही मदद से यूनीकोड की समस्‍या सुलझी और इस तरह ‘प्रत्‍यक्ष’ ब्‍लॉग की शुरुआत हुई, जिसकी पहली पोस्‍ट एक कविता थी -
प्रत्‍यक्षा ने ब्‍लॉग की शुरुआत तब की, जब इंटरनेट की दुनिया में हिंदी ने अपने पैर पसारने शुरू ही किए थे। इंटरनेट पत्रिका अभिव्‍यक्ति में उनकी एक कहानी प्रकाशित हुई। यहाँ से लिखने का सिलसिला शुरू हुआ। इंटरनेट के साथियों की ही मदद से यूनीकोड की समस्‍या



उँगलियाँ आगे बढा कर,एक बार छू लू
मेरे मन के इस निप
सुनसान तट प
लहरें आती है
कहीं से और चलकर


उसके बाद छूत की तरह लगी यह बीमारी उनके साथ है। सुबह उठकर कुछ भी करने से पहले वह कम्‍प्‍यूटर की ओर भागती हैं। प्रत्‍यक्षा हँसते हुए जवाब देती हैं, ‘मेरे पति कहते हैं कि मैं ब्‍लॉग ऑब्‍सेस्‍ड हो गई हूँ।’

jitendra|
तब से प्रत्‍यक्षा लगातार लिख रही हैं। गद्य के छोटे-छोटे टुकड़े, कविताएँ, निजी अनुभूतियाँ और कभी-कभी किताबों पर कुछ बातचीत। प्रत्‍यक्षा पढ़ने की भी बेतरह शौकीन हैं। हिंदी, उर्दू समेत तमाम भाषाओं के लेखकों और उनकी रचनाओं का जिक्र उनके ब्‍लॉग पर होता रहता है। हाल की ही एक पोस्‍ट ‘किताबों के बी’ में वह लिखती हैं -

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :

भारत पर दबाव बनाने का चीन का नेपाली पैंतरा

भारत पर दबाव बनाने का चीन का नेपाली पैंतरा
चीन और नेपाल के बीच तिब्बत के केरुंग से लेकर काठमांडू तक रेलवे लाइन बिछाने के समझौते पर ...

जब पोशाक पसीना छुड़ा दे

जब पोशाक पसीना छुड़ा दे
मशहूर हस्तियां कभी कभी पोशाक का चुनाव करने में ऐसी गलतियां कर देती हैं कि विवाद खड़ा हो ...

चिप्स देखकर जीभ क्यों लपलपाती है?

चिप्स देखकर जीभ क्यों लपलपाती है?
मां के दूध और आलू के चिप्स के बीच क्या संबंध है? ज्यादातर लोग कहेंगे कोई संबंध नहीं है। ...

पश्चिम में अब भक्ति-योग की भी धूम

पश्चिम में अब भक्ति-योग की भी धूम
भारत के स्वघोषित धर्मनिरपेक्षी जिस स्वदेशी ज्ञान-ध्यान को 'हिंदुत्व' बताकर ठुकराते हैं, ...

भारत में बढ़ रहे आत्महत्या के मामले

भारत में बढ़ रहे आत्महत्या के मामले
भारत में आत्महत्या करने वालों की संख्या में इजाफा हुआ है। नेशनल हेल्थ प्रोफाइल के आंकड़े ...

मुंबई में भारी बारिश, तीन की मौत, बिल्डिंग का हिस्सा गिरा

मुंबई में भारी बारिश, तीन की मौत, बिल्डिंग का हिस्सा गिरा
मुंबई। मुंबई में दक्षिण पश्चिमी मानसून ने रफ्तार पकड़ ली है और भारी बारिश के कारण यहां और ...

माली में डोजो शिकारियों के हमले में 32 फुलानी किसानों की

माली में डोजो शिकारियों के हमले में 32 फुलानी किसानों की मौत
बमाको। मध्य माली में हुए हमले में कम से कम 32 फुलानी किसान मारे गए हैं, जबकि 10 लापता ...

मदरसे में मौलाना ने पढ़ाया- हिंदू धर्म से सुपीरियर है ...

मदरसे में मौलाना ने पढ़ाया- हिंदू धर्म से सुपीरियर है इस्लाम, जानिए इस वायरल फोटो का सच..
एक तस्वीर इन दिनों फेसबुक और ट्विटर पर आग की तरह फैल रही है। इस तस्वीर के साथ दावा किया ...