टीम इंडिया की तरह ही है वर्ल्ड कप सेमीफाइनल में ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों के असफल होने की कहानी, 5 खास बातें...

नृपेंद्र गुप्ता|
बर्मिंघम। क्रिस वोक्स और आदिल राशिद के 3-3 विकेटों और ओपनर जैसन रॉय की 85 रन की तूफानी पारी की बदौलत मेजबान इंग्लैंड ने 5 बार के चैंपियन ऑस्ट्रेलिया को आईसीसी विश्व कप के दूसरे सेमीफाइनल में गुरुवार को 8 विकेट से रौंदकर 27 साल के लम्बे अंतराल के बाद फाइनल में जगह बना ली। इस मैच में ऑस्ट्रेलियाई टीम के बल्लेबाज भी भारतीय बल्लेबाजों की तरह ही असफल रहे। आइए इन 5 बातों से जानते हैं दोनों टीमों की असफलता की कहानी ...

- और ऑस्ट्रेलिया दोनों ही टीमों का शीर्ष क्रम पूरी तरह फ्लॉप रहा। भारत ने अपने 3 विकेट मात्र 5 रन के स्कोर पर गंवा दिए थे तो ऑस्ट्रेलिया ने भी अपने पहले 3 विकेट 14 रन पर खो दिए थे।

- ऑस्ट्रेलिया के लिए टीम के सबसे अनुभवी बल्लेबाज स्टीव स्मिथ ने 85 रनों की पारी खेली तो भारत के लिए भी महेंद्र सिंह धोनी ने अर्धशतक बनाकर पारी को संवारा।

- स्मिथ जोस बटलर के बेहतरीन थ्रो पर रन आउट होकर पैवेलियन लौट गए तो धोनी को भी मार्टिन गुप्टिल ने जबरदस्त थ्रो पर रन आउट किया।

- जब स्टीव स्मिथ रन आउट हुए तब मैच का 48 वां ओवर चल रहा था जबकि धोनी 49वें ओवर में पैवेलियन लौटे। जब स्मिथ आउट हुए तब ऑस्ट्रेलिया का स्कोर 217 रन था, वहीं धोनी के आउट होते समय भारत का स्कोर 216 रन था।

- स्मिथ के आउट होते ही ऑस्ट्रेलियाई पारी पूरी तरह बिखर गई और ऑस्ट्रेलिया टीम मात्र 223 रन ही बना सकी ज‍बकि धोनी के पैवेलियन लौटते ही भारतीय टीम की हार तय हो गई और टीम 221 रनों पर ही सिमट गई।


 

और भी पढ़ें :