बैंक की हजारों नौकरियां कर रही हैं आपका इंतजार

वेबदुनिया डेस्क

WD|
FILE
अगर आप बैंकिंग सेक्टर में बनाना चाहते हैं तो इस समय आपके लिए एक सुनहरा है। वर्तमान में देश की कई राष्ट्रीय और प्रायवेट बैंक हजारों की संख्या में अपने यहां नियुक्तियां कर रही हैं। बैंकों ने नई भर्तियां करना शुरू कर दिया है। बैंक अपनी योजनाओं का भी विस्तार कर रही हैं, जिससे उसे मानव संसाधन की आवश्यकता है।

वित्त राज्यमंत्री नमोनारायण मीणा खुद एक सवाल के लिखित जवाब में राज्यसभा में यह कह चुके हैं। मीणा के अनुसार 31 मार्च 2012 की स्थिति में 20 हजार 785 पद अधिकारी स्तर के और 12 हजार 695 पद लिपिक स्तर के खाली हैं। अन्य में 7666 पद अधीनस्थ कर्मचारियों के खाली पड़े हैं। उनके अनुसार बैंकों में पदों पर भर्तिंयां निरंतर चलने वाली प्रक्रिया है जो जरूरत के आधार पर काम करती है।
क्यों बन रहे हैं बैंकिंग सेक्टर में अवसर- भारत की राष्ट्रीय और प्रायवेट, कॉर्पोरेट बैंकें अभी तक सिर्फ पैसे जमा करने और ऋण देने का ही काम करती थीं, लेकिन अब बैंकें इंश्योरेंस पॉलिसी, म्युच्युअल फंड जैसे फाइनेंशियल सेक्टर में भी अपने पैर पसार रही है। इससे उसका कार्यक्षेत्र व्यापक हो रहा है। कार्यक्षेत्र विस्तृत होने से रोजगार के अवसर भी बढ़े हैं। ऐसे में दक्ष युवाओं की मांग बैंकिंग सेक्टर में बढ़ने लगी है।
किन बैंकों में हैं अवसर- इस एसबीआई करीब 13000 लोगों को रोजगार देने की योजना पर काम कर रही है। बैंक ऑफ बड़ौदा व इंडियन ओवरसीज बैंक 4000-4000, विजया बैंक 1200 और कॉर्पोरेशन बैंक 1000 हजार नई भर्तियां करेगी।

कैसे होती है बैंक में भर्ती- सरकारी बैंकों में पदों की भर्ती के लिए एक कॉमन रिटन टेस्ट होता है, जो इंस्टिट्‍यूट ऑफ बैंकिंग पर्सनल सिलेक्शन बोर्ड आयोजित करता है। 19 सरकारी बैंकों में भर्ती के लिए यह टेस्ट साल में दो बार होता है। भारतीय स्टेट बैंक अपने सहयोगी बैंकों के साथ अपना टेस्ट खुद आयोजित करता है।

Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :