रूप की रानी चोरों का राजा के लिए सतीश कौशिक ने माफी मांगी

मिस्टर इंडिया की सफलता के बाद फिल्म निर्माता ने 'रूप की रानी चोरों का राजा' नामक फिल्म बनाने की घोषणा की जिसका बजट बहुत ज्यादा था। बोनी भव्य फिल्म बनाना चाहते थे। अनिल कपूर और श्रीदेवी की जोड़ी को दोहराया गया। निर्देशन की जिम्मेदारी को सौंपी।

सतीश कौशिक अभिनय करते आए थे और निर्देशक बनना चाहते थे। उन्हें एक बहुत बड़ा ब्रेक बोनी ने दिया, जिसका फायदा सतीश नहीं उठा पाए।



रूप की रानी चोरों का राजा (1993) रिलीज हुई और बॉक्स ऑफिस पर बुरी तरह फ्लॉप रही। बोनी कर्ज से घिर गए। उन्हें उबारने के लिए श्रीदेवी ने अपनी कुछ प्रॉपर्टी भी बेची।

हाल ही में इस फिल्म को 25 वर्ष पूरे हुए। फिल्म के निर्देशक सतीश कौशिक ने इस फिल्म को याद करते हुए ट्वीट किया - 25 वर्ष पहले यह फिल्म बॉक्स ऑफिस पर फ्लॉप रही थी, लेकिन यह मेरे दिल के करीब है क्योंकि यह मेरा पहला बच्चा थी। मैं श्रीदेवी को याद कर रहा हूं और बोनी कपूर से माफी मांगता हूं कि उन्होंने मुझे बड़ा ब्रेक दिया, लेकिन खुद टूट गए।

इस फिल्म में जैकी श्रॉफ और अनुपम खेर भी मुख्य भूमिकाओं में थे। इस फिल्म को 9.20 करोड़ रुपये में बनाया गया था, लेकिन यह बॉक्स ऑफिस पर मात्र 2.70 करोड़ रुपये का कलेक्शन ही कर पाई थी। फिल्म 16 अप्रैल 1993 को रिलीज हुई थी।


और भी पढ़ें :