फरहान अख्तर ने हाथ पर क्यों लिखवाया- मेरा बाप लेखक है

पुनः संशोधित सोमवार, 18 सितम्बर 2017 (12:35 IST)
1975 में आई की क्लासिक फिल्म 'दीवार' के दीवाने बॉलीवुड में बहुत हैं, जिनमें भी शामिल हैं। सलीम-जावेद द्वारा लिखे गए डायलॉग्स और स्क्रिप्ट में एक बहुत ही शानदार और फेमस लाइन थी 'मेरा बाप चोर है'। फिल्म में अमिताभ बच्चन को लोगों ने जबरदस्ती एक टैटू बनाने पर मजबूर किया था- 'मेरा बाप चोर है'।

42 साल बाद सलीम-जावेद के जावेद अख्तर के बेटे फरहान अख्तर ने इसी टैटू वाली दीवानगी के चलते अपने हाथ पर भी एक टैटू बनवाया है। जिस पर लिखा है 'मेरा बाप लेखक है'।

फिल्म के मामले में फरहान अख्तर हाल ही में डायना पेंटी, दीपक डोबरीयाल, राजेश शर्मा, रोनित रॉय, गिप्पी ग्रेवाल और इनामुल्लाक जैसे कलाकारों के साथ फिल्म 'लखनऊ सेंट्रल' में नज़र आए हैं। निर्माता के रूप में उनकी दो फिल्में रिलीज होने वाली हैं - 'फुकरे रिटर्न्स' और अक्षय कुमार की 'गोल्ड'।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :