बिना दिमाग वाली हॉलीवुड मूवी पसंद, लेकिन हिंदी फिल्मों की आलोचना : अजय देवगन

लोग कॉमेडी को एक्टिंग नहीं मानते

कॉमेडी फिल्म 'गोलमाल अगेन' जल्द ही रिलीज़ होने वाली है और प्रमोशन में लगे हुए हैं। ऐसे ही प्रमोशन के दौरान जब उनसे पूछा गया कि आजकल कॉमेडी फिल्मों को तो सिर्फ एंटरटेनमेंट के नज़रिए से ही देखा जाता है तो अजय इस बात पर थोड़ा नाराज़ होते दिखाई दिए।

अजय ने कहा कि जो कॉमेडी फिल्मों को बिना दिमाग वाली फिल्म बोलते हैं उन सभी अक्लमंद लोगों ने गोलमाल देखी है। जब लोग उसी स्टोरी लाइन की हॉलीवुड कॉमेडी फिल्म देखते हैं तो उन्हें बहुत पसंद आती है, क्योंकि वह अंग्रेजी में है, लेकिन इन सभी फिल्मों को बनाने के लिए दिमाग की जरूरत होती है।

अपनी इस नई थीम हॉरर कॉमेडी फिल्म के बारे में भी अजय ने कहा कि यदि लोग ग्रेट ग्रैंड मस्ती को हॉरर कॉमेडी कहते हैं, तो वह गलत है। वह सेक्स कॉमेडी थी। अंतिम हॉरर कॉमेडी भूलभुलैया थी जिसे लोगों ने खूब पसंद किया गया था।

अजय की नज़र में एंटरटेनमेंट मतलब सिर्फ हंसाना नहीं होता, एंटरटेनमेंट वह होता है जो आपको 2 घंटे तक बांधे रख सके। लोग कॉमेडी फिल्मों को आसान समझते हैं और कॉमेडी को एक्टिंग नहीं मानते।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :