सिने मेल : हॉलीवुड फिल्मों की भी समीक्षा दे

Cine Mail
समय ताम्रकर|
WD
प्रिय पाठको,
वेबदुनिया के के सेक्शन में नित नई, मनोरंजक, आकर्षक, दिलचस्प और चटपटी सचित्र जानकारियाँ देने की हमारी कोशिश रहती है। इन्हें पढ़कर आपको कैसा लगता है, हम जानना चाहते हैं।

आपकी बॉलीवुड संबंधी प्रतिक्रिया और सुझाव हम ‘सिने-मेल’ में प्रकाशित करेंगे। हमें इंतजार है आपके ई-मेल का।


साधना पर लिखा आलेख ‘साधना : अजी रूठकर अब कहाँ जाइएगा’ हमें बहुत पसंद आया।
- मोक्ष (moksh@gmail.com)
- रमित (ramit24@gmail.com)
लगता है कि वेबदुनिया की बच्चन परिवार से दुश्मनी है। पिछले 10 वर्षों से यह साइट विजिट कर रहा हूँ लेकिन कभी भी बच्चन परिवार की तारीफ में एक शब्द भी नहीं सुना। जिसने पूरी दुनिया में हिन्दुस्तान का नाम रोशन किया उसके खिलाफ लगातार लिखा जा रहा है।
- डॉ. एम.एस. किराड (join.mannu83@gmail.com)

(किराड जी, कई बार हमने बच्चन परिवार की तारीफ करते हुए आलेख भी दिए हैं, जिस पर आपका ध्यान नहीं गया। अमिताभ पर एक विशेष पेज भी वेबदुनिया पर ऑनलाइन है।)
बॉलीवुड फिल्मों की समीक्षा की तरह आप हॉलीवुड फिल्मों की भी वेबदुनिया में समीक्षाएँ दीजिए।
- संदीप (sandjoshi12@gmail.com)

‘क्रूक’ में इमरान के गरमा-गरम किस’ खबर पढ़ी। लगता है कि यह फिल्म बेहतरीन होगी।
- अरुण (palkumar.arun@gmail.com)
‘तेरे लिए’ धारावाहिक में तानी का किरदार निभाने वाली अभिनेत्री अनुप्रिया कपूर मुझे बहुत पसंद है।
- ऐश (achandra599@gmail.com)

खतरों के खिलाड़ी के बारे में आलेख ‘ये हैं कचरों के खिलाड़ी’ पढ़ा। मुझे समझ में नहीं आता कि इस तरह के शो का क्या औचित्य है?
- नीरज सक्सेना (Saxena_nrj @yahoo.com)
: बीमारी बनता दबंगपन’ पढ़ा। मैं लेखक की बातों से बिलकुल भी सहमत नहीं हूँ।
(adsadad@yahoo.com)

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :