2017 की श्रेष्ठ इंडियन वेब सीरिज

जहां एक तरफ बॉलीवुड हमेशा से एंटरटेन्मेंट का सोर्स माना जाता है, वहीं इस दौर में वेब-सीरिज़ का सिलसिला भी चल पड़ा है। बॉलीवुड के साथ ही लोगों का रुझान आजकल वेब-सीरिज़ की तरफ बढ़ रहा है। वेब-सीरिज़ के नाम पर सबसे पहले आए थे पर्मानेंट रूममेट्स और पिचर्स। इनकी बेहतरीन सक्सेस के बाद और कई वेब-सीरिज़ नए कंसेप्ट्स के साथ मार्केट में आईं और सक्सेसफुल रहीं। अब तो एमेज़ॉन प्राइम और नेटफ्लिक्स जैसे इंटरनेशनल ब्रांड भी इंडियन वेब-सीरिज़ को जगह देने लगे हैं। तो यहां हैं की कुछ खास और बेहतरीन वेब-सीरिज़-

लाखों में एक
एक तरफ जहां आकाश रायपुर में ही रहकर कॉमर्स की तैयारी करना चाहता है, वही दूसरी तरफ उसके पैरेंट्स उसे आईआईटी भेजना चाह रहे हैं। ऐसे में यह वेब सीरिज़ टीनएजर्स की ऐसी अंधेरी दुनिया दर्शाती है, जहां बच्चे पैरेंट्स की इच्छाओं को ही मानकर घुटते हैं। बिस्वा कल्याण रथ द्वारा निर्मित इस वेब-सीरिज़ में पैरेंटल प्रेशर दिखाया गया है, जहां वे अपने बच्चों को बस टॉपर बनाना चाहते हैं और बच्चे भी सोसाइटी को खुश करने के लिए कई दबाव से गुज़रते हैं। 6 एपिसोड की इस सीरिज़ में बिस्वा दिखा दिया कि वे स्टैंड-अप कॉमेडी से भी बहुत ज़्यादा कुछ कर सकते हैं। इसे अभिषेक सेनगुप्ता ने निर्देशित किया है और इसे लिखने में बिस्वा का साथ दिया है वस्पर डांडीवाला ने। लीड कैरेक्टर में हैं रित्विक सहोरे।

डेड/अलाइव
एकता कपूर, ऑल्ट बालाजी चैनल, राजकुमार राव, नेताजी सुभाष चंद्र बोस और एक शानदार कहानी। इससे बेहतर और क्या हो सकता है? लीजेंड नेताजी सुभाष चंद्र बोस ने अपने जीवनकाल और मरने के बाद भी अपनी गहरी छाप छोड़ी है। 1945 में उनकी प्लेन क्रैश में मौत के खुलासे पर बनी है एकता कपूर की यह शानदर वेब-सीरिज़ 'बोस डेड/अलाइव'। बेहतरीन एक्टर राजकुमार राव ने इसमें नेताजी का किरदार निभा कर इसे और बढ़िया बना दिया। नेताजी की समझ, स्ट्रेटेजी और मिस्ट्री की इस वेब-सीरिज़ का कंसेप्ट अनुज धर की किताब 'इंडियाज़ बिगेस्ट कवर-अप' से लिया गया है। एकता कपूर और हंसल मेहता भी शामिल हैं। इसे पुलकित ने निर्देशित किया है लिखा है रेशु नाथ ने।

वॉट द फोक्स
आज के ज़माने में 'दामाद घर का बेटा' वाला कंसेप्ट मज़ेदार तरीके से दिखाया है। डाइस मीडिया की इस सीरिज़ 'वॉट द फोक्स' में। सीरिज़ एक फैमिली के बारे में है, जिनका दामाद उनके साथ कुछ दिन रहने आता है। बेटी के बिना दामाद के साथ घरवालों का एडजस्ट होना, ह्यूमर, टेंशन, फीलिंग्स को बहुत अच्छे तरीके से दर्शाया गया है, जिसकी वजह से यह इस साल की सबसे फेमस वेब-सीरिज़ में शामिल हुई। इसके कलाकार हैं - वीर राजवंत सिंह, आएशा चोपड़ा, विपिन शर्मा, अनुला नवलेकर, दीपिका देशपांडे और ध्रुव सहगल। रुचिर अरुण इसके निर्देशक हैं।

फादर्स
वेब-सीरिज़ के ऑन-स्क्रीन फादर्स - बृजेन्द्र काला, गजराज राव और अतुल श्रीवास्तव की तिकड़ी वाला यह शो इस ज़माने के ऐसे पापा को दिखा रहा है जो यंग जनरेशन के के साथ चलना चाहते हैं। इस जनरेशन के पापा हमेशा यही चाहते है कि उनका बच्चा कही सैटल हो जाए, चाहे उसे अपने सपने ही क्यों ना छोड़ना पड़े। इस सोच को तोड़ते हुए इन तीनों ने अपने कामों को छोड़ स्टार्ट-अप शुरू किया। यह शो 'FRIENDS' की थीम पर आधारित है। चंदन कुमार द्वारा लिखित यह वेब-सीरिज़ राघव सुब्बु ने निर्देशित की है।

इनसाइड एज
इस शो की कहानी क्रिकेट की अंधेरी दुनिया दिखा रही है, जो सट्टेबाजी और स्पोर्ट्स पॉलिटिक्स से चल रही है। कुछ बॉलीवुड सितारों की कास्ट और कंसेप्ट से ही यह शो सक्सेस हो गया। यह एक इंडियन-अमेरिकन सीरिज़ है। यह एमेज़ॉन प्राइम वीडियो की पहली इंडियन सीरिज़ है।

की समीक्षा पढ़ने के लिए क्लिक करें


कास्ट में रिचा चड्ढा, तनुज विरवानी, विवेक ऑबेरॉय और अंगद बेदी शामिल हैं। यह फरहान अख्तर और रितेश सिधवानी ने प्रोड्युस की है।

इनमेट्स

टीवीएफ का नया शो ऐसे घर के दोस्तों की कहानी बताता है जहां लड़ाई, झड़प, मजाक, स्ट्रगल, दोस्ती, प्यार सब होता है। कलाकारों में सीरिज़ के बेस्ट लोग राघव राज कक्कड़, कश्यप कपूर, मुक्ति मोहन, आकांक्षा ठाकुर और आशीष वर्मा हैं। राघव राज कक्कड़ और कश्यप कपूर द्वारा लिखी गई यह कहानी यज़द एंकलसरीया द्वारा निर्देशित की गई है।

आम आदमी फैमिली
टीवीएफ की 'आम आदमी फैमिली' का यह दूसरा सीज़न इस बार घर के बच्चों की खुशी पर आधारित है। बेटी के बॉयफ्रेंड को अपनाना, उससे शादी कराना, लड़के और उसके परिवार को समझना, घर में बेटी की शादी का जश्न होना और साथ ही सारे स्यापे। इस वेब-सीरिज़ में इमोशनल, फैमिली, लव, मज़ाक सारा ड्रामा है। कलाकारों में बृजेंद्र काला, चंदन आनंद, कमलेश गिल, गुंजन मल्होत्रा और लुबना सलीम शामिल हैं।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :