पितृदोष दूर करना है तो दत्त पूर्णिमा पर पढ़ें ये 4 चमत्कारिक मंत्र...

dattatreya
* दत्त महामं‍त्र : प्रतिदिन करेंगे जप तो पितृ होंगे आप पर प्रसन्न

पितृदोष से पीड़ित व्यक्ति का जीवन अत्यंत कष्टमय हो जाता है। अत: जिन मनुष्यों को पितृदोष का अनुभव हो रहा हो या घर में निरंतर कोई न परेशानी बनी रहती हो तो उन्हें प्रतिदिन के नाम का जाप करना चाहिए। इतना ही नहीं के दर्शन करने से भी जीवन में सबकुछ अच्छा घटित होने लगता है।

वैसे तो हमेशा ही दत्त भगवान का स्मरण हर मनुष्य करना चाहिए। विशेष कर अमावस्या और पूर्णिमा के दिनों तो दत्त नाम की माला अवश्‍य जपना चाहिए। खास कर दत्त पूर्णिमा के दिन दत्तात्रेय के दो शक्तिशाली महामंत्र की माला जपने से या निरंतर इन नामों का जाप करने से पितृदोष दूर होता है। पढ़ें :-

पहला मंत्र - 'श्री दिगंबरा दिगंबरा श्रीपाद वल्लभ दिगंबरा'।

दूसरा मं‍त्र- 'श्री गुरुदेव दत्त'।

इसके अलावा निम्न मंत्र का जाप मानसिक रूप से करना चाहिए-

मानसिक रूप से जाप करने का मंत्र- ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां ॐ द्रां।

इसके बाद नित्य ‍10 माला का जाप निम्न मंत्र से करना चाहिए।

- 'ॐ द्रां दत्तात्रेयाय स्वाहा।'

अगर आप जीवन की सभी परेशानियां समाप्त करना चा‍हते हैं तो के ये मंत्र आपके लिए बहुत ही लाभदायी साबित होंगे तथा जीवन में उन्नति के अनेक नए मार्ग खुलते हैं।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :