गायत्री मंत्र का सरल और गोपनीय अर्थ हिन्दी में, खास आपके लिए...


समस्त धर्म ग्रंथों में गायत्री की महिमा एक स्वर से कही गई। समस्त ऋषि-मुनि मुक्त कंठ से गायत्री का गुण-गान करते हैं। शास्त्रों में गायत्री की महिमा के पवित्र वर्णन मिलते हैं। तीनों देव, बृह्मा, विष्णु और महेश का सार है। गीता में भगवान् ने स्वयं कहा है ‘गायत्री छन्दसामहम्’ अर्थात् गायत्री मंत्र मैं स्वयं ही हूं।
गायत्री मंत्र : अर्थ सहित व्याख्या


ॐ भूर्भुवः स्व: तत्सवितुर्वरेण्यं भर्गो देवस्य धीमहि धियो यो नः प्रचोदयात् ॥

ॐ : परब्रह्मा का अभिवाच्य शब्द
भूः :
भूलोक
भुवः : अंतरिक्ष लोक
स्वः : स्वर्गलोक
त : परमात्मा अथवा ब्रह्म
सवितुः : ईश्वर अथवा सृष्टि कर्ता
वरेण्यम : पूजनीय
भर्गः: अज्ञान तथा पाप निवारक
देवस्य : ज्ञान स्वरुप भगवान का
धीमहि : हम ध्यान करते है
धियो :
बुद्धि प्रज्ञा
योः :
जो
नः : हमें
प्रचोदयात् : प्रकाशित करें।

अर्थ: : हम ईश्वर की महिमा का ध्यान करते हैं, जिसने इस संसार को उत्पन्न किया है, जो पूजनीय है, जो ज्ञान का भंडार है, जो पापों तथा अज्ञान की दूर करने वाला हैं- वह हमें प्रकाश दिखाए और हमें सत्य पथ पर ले जाए।


वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :

राशिफल

दरिद्रता से चाहिए जल्दी छुटकारा तो राशि अनुसार करें यह खास ...

दरिद्रता से चाहिए जल्दी छुटकारा तो राशि अनुसार करें यह खास उपाय
यह उपाय 12 राशियों के अनुसार बताए गए हैं। यह उपाय अगर अपने ईष्ट का स्मरण कर भक्ति भाव से ...

कुंडली में लग्न का मतलब जानते हैं आप ! जानिए कितना ...

कुंडली में लग्न का मतलब जानते हैं आप ! जानिए कितना महत्वपूर्ण है यह?
जब भी आप ज्योतिष की बात करते हैं या किसी ज्योतिष के पास जाते हैं, आपको एक शब्द जरूर सुनने ...

बहुमुखी प्रतिभा के धनी होते हैं धनिष्ठा नक्षत्र में जन्मे ...

बहुमुखी प्रतिभा के धनी होते हैं धनिष्ठा नक्षत्र में जन्मे जातक, जानिए भविष्यफल
वैदिक ज्योतिष की गणनाओं के लिए महत्वपूर्ण माने जाने वाले 27 नक्षत्रों में से धनिष्ठा को ...

क्या लाया है नए घर का सपना आपके लिए, जानें 12 तरह के स्वप्न ...

क्या लाया है नए घर का सपना आपके लिए, जानें 12 तरह के स्वप्न फल
सपनों की दुनिया भी काफी सूक्ष्म है। सपने देखने के क्रम में ऐसे स्थान या दृश्य दिखाई पड़ते ...

इस साल क्या है रक्षाबंधन पर राखी बांधने का शुभ मुहूर्त, ...

इस साल क्या है रक्षाबंधन पर राखी बांधने का शुभ मुहूर्त, क्या धनिष्ठा पंचक बनेगा रुकावट
रक्षाबंधन का त्योहार इस वर्ष 26 अगस्त को है। इस साल अच्छी बात यह है कि राखी के दिन भद्रा ...

रक्षाबंधन पर इस प्रकार बांधेंगे राखी, तो शुभता में होगी कई ...

रक्षाबंधन पर इस प्रकार बांधेंगे राखी, तो शुभता में होगी कई गुना वृद्धि...
रक्षाबंधन का त्योहार भाई और बहन के रिश्ते में शुभता को बढ़ाने वाला होता है। इस दिन विशेष ...

रक्षा बंधन पर चयन करें राशि अनुसार राखी के रंग, पर्व मनाएं ...

रक्षा बंधन पर चयन करें राशि अनुसार राखी के रंग, पर्व मनाएं शुभ मुहूर्त के संग
इस बार रक्षाबंधन के लिए समय ही समय मिलेगा। रक्षाबंधन वाले दिन भद्रा नहीं लगेगी, क्योंकि ...

कैसे होते हैं धनु राशि वाले जातक, जानिए अपना व्यक्तित्व...

कैसे होते हैं धनु राशि वाले जातक, जानिए अपना व्यक्तित्व...
हम 'वेबदुनिया' के पाठकों के लिए क्रमश: समस्त 12 राशियों व उन राशियों में जन्मे जातकों के ...

क्या है आपके भाई की राशि, बांधें उसी के अनुसार राखी...

क्या है आपके भाई की राशि, बांधें उसी के अनुसार राखी...
रक्षासूत्र के सभी रंग अच्छे होते हैं, परंतु यदि राशि के अनुसार रंग की राखी बांधी जाए तो ...

कुंडली में राहु-केतु का है विशेष महत्व, जानिए केतु को ...

कुंडली में राहु-केतु का है विशेष महत्व, जानिए केतु को प्रसन्न करने के 5 उपाय
जन्मकुंडली में अन्य ग्रहों के साथ-साथ राहु और केतु का भी विशेष महत्व है। ये दोनों एक ही ...