शतभिषा नक्षत्र में जन्मे व्यक्ति का भविष्यफल

FILE


इस का स्वामी राहु है, इसकी दशा में 18 वर्ष हैं व कुंभ राशि के अंतर्गत आता है। में जन्म होने पर जन्म राशि कुंभ तथा राशि का स्वामी शनि, वर्ण शूद्र वश्य नर, योनि अश्व, महावैर योनि महिष, गण राक्षस तथा नाड़ी आदि हैं। ऐसे जातक पर राहु और शनि का प्रभाव रहता है।

प्रतीक : चक्र, वृत्त।
रंग : नीला।
वृक्ष : कदम्ब।
अक्षर : ग और ज।
देवता : वरुण।
नक्षत्र स्वामी : राहु।
राशि स्वामी : शनि।
शारीरिक गठन : सामान्य।

सकारात्मक पक्ष : यदि राहु और शनि का कुंडली में प्रभाव अच्छा है तो जातक रहस्यमय, दार्शनिक और वैज्ञानिक जैसे विचारों से संपन्न होकर उच्च सैद्धांतिक आचरण का होता है। इस नक्षत्र के प्रबल प्रभाव में आने वाले जातक आत्मविश्वास से भरपूर होते हैं। होने से जातक साहसी, दाता, कठोर चित्त, चतुर, अल्पभोजी तथा कालज्ञ होता है। ऐसा जातक महत्वाकांक्षी, सात्विक जीवन जीने वाला सदाचारी, साधु-संतों का प्रेमी तथा धार्मिक होता है।

नकारात्मक पक्ष : राहु को शतभिषा नक्षत्र का शासक ग्रह माना है। खराब राहु को मिथ्याओं, रहस्यों तथा गुप्त ज्ञान तथा जादुई घटनाओं की ओर झुकाव करने वाला माना जाता है इसलिए राहु ग्रह का प्रभाव यदि ठीक नहीं है तो जातक फालतू की विद्याओं के चक्कर में जीवन खराब कर लेता है।

ऐसा जातक व्यसनयुक्त, बिना विचारे काम करने वाला, किसी के वश में न होने वाला तथा शत्रुओं को जीतने वाला होता है। साथ ही जातक कृपण, परस्त्रीगामी तथा विदेश में रहने की कामना करने वाला भी होता है। इस तरह के स्वभाव के चलते वह कभी अपने परिजनों को सुख नहीं देता।

- प्रस्तुति : शताय

--------------------------------------------------------------------------------




WD|

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :

राशिफल

श्रावण मास में अत्यंत प्रभावशाली हो जाता है महामृत्युंजय ...

श्रावण मास में अत्यंत प्रभावशाली हो जाता है महामृत्युंजय मंत्र, जानिए इसके जप नियम
श्रावण में शिव आराधना का विशेष महत्व होता है। शिवजी की आराधना में जितना महत्त्व अभिषेक का ...

17 अगस्त से सूर्य का सिंह राशि में आगमन, क्या होगा आपकी ...

17 अगस्त से सूर्य का सिंह राशि में आगमन, क्या होगा आपकी राशि पर असर
17 अगस्त 2018 को सूर्य सिंह राशि में गोचर करेगा और 17 सितंबर 2018 तक इसी राशि पर रहेगा। ...

नागपंचमी 2018 : जानिए कैसे मनाएं यह पावन पर्व, पढ़ें विशेष ...

नागपंचमी 2018 : जानिए कैसे मनाएं यह पावन पर्व, पढ़ें विशेष मंत्र
इस वर्ष नागपंचमी 15 अगस्त 2018 को है। आइए जानते हैं कि नागपंचमी कैसी मनाई जानी चाहिए-

शिव शंकर को फूल चढ़ाने से पहले इसे पढ़ें, कहीं आप गलती तो ...

शिव शंकर को फूल चढ़ाने से पहले इसे पढ़ें, कहीं आप गलती तो नहीं कर रहे, जानिए सही विधि
शास्त्रों में किस देव को कौन से पुष्प चढ़ाए जाएं यह निर्देशित किया गया है। साथ ही साथ यह ...

पूरे श्रावण मास में मन के शिवतत्व को करें जागृत, अतिरिक्त ...

पूरे श्रावण मास में मन के शिवतत्व को करें जागृत, अतिरिक्त ऐश्वर्य चाहिए तो जानिए शिव पूजा का महत्व
श्रावण मास में भगवान शिव की पूजा करके जाने-अनजाने मे किए हुए पाप कर्म के लिए क्षमा मांगने ...

15 अगस्त पर लाल किले की प्राचीर से हो सकती है ये घोषणाएं, ...

15 अगस्त पर लाल किले की प्राचीर से हो सकती है ये घोषणाएं, जानें क्या कहता है ज्योतिष
देश के लिए 15 अगस्त, बुधवार के दिन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी लाल किले की प्राचीर से कई ...

जानिए श्रावण में क्यों आती है नागपंचमी, और क्यों चढ़ाते हैं ...

जानिए श्रावण में क्यों आती है नागपंचमी, और क्यों चढ़ाते हैं नाग देवता को दूध?
नाग पंचमी का पवित्र त्योहार 15 अगस्त 2018 को मनाया जाएगा। श्रावण मास के शुक्ल पक्ष की ...

आपकी राशि के लिए कैसा रहेगा सूर्य का स्वराशि सिंह में ...

आपकी राशि के लिए कैसा रहेगा सूर्य का स्वराशि सिंह में प्रवेश (पढ़ें 12 राशियां)
ज्योतिष शास्त्र में सूर्य को नवग्रहों का राजा कहा गया है। सूर्य मनुष्यों की जीवनी शक्ति ...

कैसे मनाएं हरियाली तीज, जरूर पढ़ें मां पार्वती का यह ...

कैसे मनाएं हरियाली तीज, जरूर पढ़ें मां पार्वती का यह सौभाग्य मंत्र...
यह त्योहार वैसे तो 3 दिन मनाया जाता है, लेकिन समय की कमी की वजह से लोग इसे 1 ही दिन मनाते ...

13 अगस्त 2018 का राशिफल और उपाय...

13 अगस्त 2018 का राशिफल और उपाय...
विद्यार्थी वर्ग सफलता हासिल करेगा। स्वादिष्ट भोजन का आनंद मिलेगा। थकान रहेगी। धन प्राप्ति ...