शुक्र का कुंभ राशि में गोचर, जानिए 12 राशियों पर असर


-आचार्य राजेश कुमार

भोग और विलासिता का कारक ग्रह तुला और वृषभ राशि का स्वामी है। शुक्र को पति-पत्नी, प्रेम संबंध, ऐश्वर्य, आनंद आदि का भी कारक ग्रह माना गया है। कुंडली में शुक्र का प्रभाव शुभ होने से भौतिक सुख-सुविधाओं का लाभ मिलता है व वैवाहिक सुख प्राप्त होता है। 6 फरवरी 2018, मंगलवार को शुक्र ग्रह ने दोपहर 13 बजकर 31 मिनट पर कुंभ राशि में कर लिया है।

आइए जानते हैं इस गोचर का आपके जीवन पर प्रभाव क्या होगा?

को शुक्र ने मकर राशि को छोड़कर कुंभ राशि में गोचर कर लिया हैं। यह परिवर्तन सभी राशि के जातकों पर अपना प्रभाव देगा।

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार यह कहा जाता है कि जिस जातक की कुंडली में शुक्र मजबूत और अच्छी स्थिति में होता है, उसका विवाहित जीवन बहुत अच्छा बीतता है और साथ ही उसे जीवन में लगभग सभी सुख-सुविधाओं की प्राप्ति होती है। यह गोचर कुंभ और मकर के साथ-साथ अन्य सभी राशियों पर क्या प्रभाव डालेगा, आइए जानें।
मेष राशि
शुक्र का यह गोचर मेष राशि के जातकों के ग्यारहवें भाव में होगा। आपको बहुत से वित्तीय लाभ प्राप्त होंगे और प्रोफेशन में आगे बढ़ने के भी कई
अवसर मिलेंगे। आप कुछ जोखिमभरे निर्णय भी ले सकते हैं।

उपाय : सफेद चंदन नाभि, जुबान व माथे पर लगाएं।

वृषभ राशि

वृषभ राशि के जातकों की कुंडली के दसवें भाव में शुक्र गोचर होगा। आपको जीवन के बहुत से क्षेत्रों, खासकर स्वास्थ्य संबंधी मामलों में परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। आपकी गतिविधियों के चलते सामाजिक छवि में नुकसान हो सकता है इसलिए बहुत संभलकर चलें।

उपाय : श्री सूक्तं का पाठ लाभप्रद।

मिथुन राशि

जिन लोगों की राशि मिथुन है उनके नौवें भाव में शुक्र गोचर करने जा रहा है। इस समय आपकी सिक्स्थ सेंस और इच्छाशक्ति अपने चरम पर रहने वाली है। यह भी संभव है कि जिन-जिन वैभवशाली वस्तुओं की आप कामना करते हैं, वे सब आपको हासिल हो जाएं।

उपाय : मां कात्यायनी की सफेद फूलों से पूजा करें।
कर्क राशि

यह गोचर कर्क राशि के जातकों के आठवें भाव में होगा । आपको घबराने की कोई आवश्यकता नहीं है, क्योंकि आपकी आर्थिक स्थिति बहुत हद तक मजबूत होने वाली है। आपको आय के नए स्रोत प्राप्त होंगे, जो भविष्य के लिहाज से आपके लिए बहुत कारगर सिद्ध होंगे।

उपाय : लक्ष्मी व शिवपूजन लाभप्रद।

सिंह राशि

सिंह राशि के जातकों के सप्तम भाव में शुक्र गोचर करेंगे, यह आपके लिए काफी चुनौतीपूर्ण साबित होने वाला है। आप अपने भीतर आलस्य, थकावट और नाउम्मीदी महसूस कर सकते हैं। संबंधों पर ध्यान देना होगा, उनके प्रति गंभीरता रखनी होगी। स्वास्थ्य के लिहाज से थोड़ा सचेत रहने की आवश्यकता है।
उपाय : पूजा के समय भगवान शिव को दूध चढ़ाएं।

कन्या राशि

शुक्र का यह गोचर आपकी राशि के छठे भाव में होने जा रहा है, इसके परिणामस्वरूप आप अप्रत्याशित रूप से हताशा और परेशानियों की गिरफ्त में चले जाएंगे। विवाहित जीवन में क्लेश विकसित हो सकता है, झगड़े का कोई भी मौका न दें। आप बेकार की चिंताओं से घिरे रहेंगे। इस दौरान किसी को भी पैसे उधार न दें, क्योंकि आप उन्हें वापस नहीं ले पाएंगे।
उपाय : मां लक्ष्मीजी को खीर चढ़ाएं।

तुला राशि

शुक्र आपकी ही राशि का स्वामी है और अब वह आपके पांचवें भाव में गोचर करेगा। आपके लिए यह गोचर बहुत फायदेमंद सिद्ध होगा, आप ज्ञान प्राप्ति की ओर आकर्षित
रहेंगे, साथ ही आपको जॉब प्रमोशन या आय में वृद्धि भी प्राप्त हो सकती है। जो लोग रोमांटिक संबंध में हैं, उन्हें धीरज से काम लेना होगा, अन्यथा बात बिगड़ सकती है।
उपाय : छोटी कन्याओं से आशीर्वाद प्राप्त करें और उन्हें मिश्री खिलाएं।

वृश्चिक राशि

आपकी राशि के चौथे भाव में शुक्र का यह गोचर होने जा रहा है। इसके चलते सभी प्रयत्न सफल होंगे। अगर नया घर खरीदने की योजना बना रहे हैं तो आपको यह सलाह दी जाती है कि सभी कागजी कार्रवाई अपने सामने करवाएं, जरा-सी अनदेखी आपको परेशानी में डाल सकती है।

उपाय : किसी भी देवी के मंदिर में शुक्रवार के दिन बताशे दान करें।
धनु राशि

आपकी कुंडली के तीसरे भाव में होगा यह गोचर। इस दौरान आप अपने भीतर नई ऊर्जा का अनुभव करेंगे। ऑफिस में उच्च अधिकारियों के जरिए आपको काफी लाभ प्राप्त होगा और आपके काम को भी काफी सराहा जाएगा। अत्यधिक और लंबी यात्राओं की वजह से परिवार के साथ बहुत कम समय बिता पाएंगे।

उपाय : भगवान शिव का दूध से रुद्राभिषेक करें।

मकर राशि
शुक्र ग्रह आपकी राशि को छोड़ते हुए कुंभ में जा रहे हैं। यह गोचर आपकी कुंडली के दूसरे भाव में होगा। छात्रों के लिए यह समय बहुत अच्छा है। मकर राशि के लिए यह गोचर बहुत शुभ रहने वाला है। आपको दान-पुण्य करने जैसे सुखद अवसर भी प्राप्त होंगे। व्यावसायिक दृष्टिकोण से आपको बहुत लाभ प्राप्त होने वाला है, उसके लिए तैयार रहें।

उपाय : श्री लक्ष्मी सूक्तं पढ़ें और सफेद प्रसाद चढ़ाएं।
कुंभ राशि

शुक्र का यह गोचर आपकी ही राशि में होने जा रहा है। यह गोचर वित्तीय लिहाज से बहुत फायदेमंद साबित होगा। आप महंगी वस्तुओं, जिसमें सोना,
महंगे परफ्यूम आदि शामिल हैं, पर खर्च करने वाले हैं। लेकिन आपको इस बात का ध्यान रखना होगा कि किसी भी स्थिति में गलत संगति में न पड़ें अन्यथा अपना नुकसान कर बैठेंगे। अगर बिजनेस में साझेदारी है तो इस दौरान थोड़ा संभलकर रहें।
उपाय : ॐ द्रां द्रीं द्रौं स: शुक्राय नम: मंत्र का जाप कमल गट्टे की माला से करें।

मीन राशि

शुक्र का यह गोचर आपकी राशि के बारहवें भाव में होने जा रहा है। इस दौरान विवाहित दंपतियों के संबंध काफी मधुर रहेंगे। हो सकता है कि आप अपने अत्यधिक व्यस्त शेड्यूल से ब्रेक लेकर परिवार या दोस्तों के साथ अच्छा समय बिताएं। आप अपनी कार्यशैली और मेहनती स्वभाव की वजह से ऑफिस में अपने सीनियर्स के बीच लोकप्रिय रहेंगे।
उपाय : शुक्रवार के दिन पुजारी को चावल दही का दान करें।


Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :