माघ मास का हर दिन है पवित्र, समस्त पापों से देता है छुटकारा

snan-daan
 
* विशेष ऊर्जा की प्राप्ति कराता है मास, इस माह अवश्य करें  
 
* हिन्दुओं को सर्वाधिक प्रिय माघ महीना है। माघ माह 2 जनवरी 2018 से शुरू हो गया है। हिन्दू पंचांग के अनुसार मकर संक्रांति के दिन 14 या 15 जनवरी को माघ महीने में यह मेला आयोजित होता है। यह भारत के सभी प्रमुख तीर्थ स्थलों में मनाया जाता है। 
 
*  धार्मिक दृष्टिकोण से माघ मास का बहुत अधिक महत्व है। यही वजह है कि प्राचीन पुराणों में भगवान नारायण को पाने का सुगम मार्ग माघ मास के पुण्य स्नान को बताया गया है। माघ मास में खिचड़ी, घृत, नमक, हल्दी, गुड़, तिल का दान करने से महाफल प्राप्त होता है। 
 
* निर्णय सिंधु में कहा गया है कि माघ मास के दौरान मनुष्य को कम से कम एक बार पवित्र नदी में स्नान करना चाहिए। भले पूरे माह स्नान के योग न बन सकें लेकिन एक दिन के स्नान से श्रद्धालु स्वर्ग लोक का उत्तराधिकारी बन सकता है।
 
* मत्स्य पुराण के एक कथन के अनुसार माघ मास की पूर्णिमा में जो व्यक्ति ब्राह्मण को ब्रह्मावैवर्तपुराण का दान करता है, उसे ब्रह्म लोक की प्राप्ति होती है। 
 
* सदियों से माघ माह की विशेषता को लेकर भारत वर्ष में नर्मदा, गंगा, यमुना, सरस्वती, कावेरी सहित कई पवित्र नदियों के तट पर माघ मेला भी लगता हैं। माना जाता है कि माघ मास में पवित्र नदियों में स्नान करने से एक विशेष ऊर्जा की प्राप्ति होती है। 
 
* जिस प्रकार माघ मास में तीर्थ स्नान का बहुत महत्व है, उसी प्रकार दान का भी विशेष महत्व है। इन माह में दान में तिल, गुड़ और कंबल या ऊनी वस्त्र दान देने से विशेष पुण्य की प्राप्ति होती है। 
 
* वहीं पुराणों में वर्णित है कि इस माह में पूजन-अर्चन व स्नान करने से नारायण को प्राप्त किया जा सकता है तथा स्वर्ग की प्राप्ति का मार्ग भी खुलता है। 
 
* पुराणों के अनुसार पौष मास की पूर्णिमा से माघ मास की पूर्णिमा तक माघ मास में पवित्र नदी नर्मदा, गंगा, यमुना, सरस्वती, कावेरी सहित अन्य जीवनदायिनी नदियों में स्नान करने से मनुष्य को समस्त पापों से छुटकारा मिलता है और मोक्ष का मार्ग खुल जाता है।
 
* महाभारत के एक दृष्टांत में उल्लेख है कि माघ माह के दिनों में अनेक तीर्थों का समागम होता है। वहीं पद्मपुराण में बताया गया है कि अन्य मास में जप, तप और दान से भगवान विष्णु उतने प्रसन्न नहीं होते जितने कि माघ मास में नदी तथा तीर्थस्थलों पर स्नान करने से होते हैं। मान्यता यह भी है कि माघ मास की पूर्णिमा को नदी स्नान और दान देने से सूर्य और चंद्रमा युक्त दोषों से मुक्ति मिलती है।
 

Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :

राशिफल

राहुकाल का समय और उससे बचने के उपाय

राहुकाल का समय और उससे बचने के उपाय
राहुकाल स्थान और तिथि के अनुसार अलग-अलग होता है अर्थात प्रत्येक वार को अलग समय में शुरू ...

वास्तु-फेंगशुई : स्टडी टेबल ऐसी होगी तो मिलेगी मनचाही सफलता

वास्तु-फेंगशुई : स्टडी टेबल ऐसी होगी तो मिलेगी मनचाही सफलता
क्या आपने स्टडी टेबल पर ध्यान दिया है। वह सुविधाजनक तो है लेकिन क्या वास्तु अनुरूप भी ...

वृषभ राशि में आए सूर्य, किस राशि के लिए शुभ, किसके लिए अशुभ

वृषभ राशि में आए सूर्य, किस राशि के लिए शुभ, किसके लिए अशुभ
मंगलवार, 15 मई 2018 को वृषभ राशि में सूर्य ने प्रवेश कर लिया है। आइए जानें किस राशि के ...

इन रत्नों से मिलेगा ग्रहों का शुभ प्रभाव, आप भी जानिए...

इन रत्नों से मिलेगा ग्रहों का शुभ प्रभाव, आप भी जानिए...
सूर्य को शक्तिशाली बनाने के लिए 3 रत्ती के माणिक को स्वर्ण की अंगूठी में, अनामिका अंगुली ...

यदि नौकरी में प्रमोशन नहीं हो रहा है तो अपनाएं ये 7 खास

यदि नौकरी में प्रमोशन नहीं हो रहा है तो अपनाएं ये 7 खास उपाय
ज्योतिष शास्त्र के अनुसार यदि नौकरी में आपकी मेहनत, प्रतिभा और वरिष्ठता के बावजूद मनचाही ...

अगर आपको आ रहे हैं यह सपने तो समझो बजने वाली है शहनाई

अगर आपको आ रहे हैं यह सपने तो समझो बजने वाली है शहनाई
शादी के सपने हर युवा मन देखता है। लेकिन कुछ सपने गहरी नींद में आकर संकेत देते हैं शादी ...

विष्णुसहस्रनाम का पाठ पुरुषोत्तम मास में अवश्य पढ़ें, जानिए ...

विष्णुसहस्रनाम का पाठ पुरुषोत्तम मास में अवश्य पढ़ें, जानिए श्रीविष्णु के 1000 नाम
इन दिनों पुरुषोत्तम मास चल रहा है। यह महीना श्रीहरि विष्णुजी की उपासना का माना गया है। इन ...

20 मई को रवि पुष्य नक्षत्र, आजमाएं एकाक्षी नारियल के टोटके ...

20 मई को रवि पुष्य नक्षत्र, आजमाएं एकाक्षी नारियल के टोटके और पढ़ें ये शुभ मंत्र
20 मई 2018, रविवार को रवि-पुष्य का शुभ संयोग बन रहा है। पुष्य नक्षत्र जब रविवार के दिन ...

पुरुषोत्तम मास की दान सामग्री, जा‍नें तिथिनुसार क्या दान ...

पुरुषोत्तम मास की दान सामग्री, जा‍नें तिथिनुसार क्या दान करें...
पुरुषोत्तम मास में श्रीहरि विष्णु पूजन के साथ तिथि अनुसार दान करने से मानव को कई गुणा ...

वर्ष 2018 में आनेवाले रवि-पुष्य व गुरु-पुष्य के शुभ संयोग ...

वर्ष 2018 में आनेवाले रवि-पुष्य व गुरु-पुष्य के शुभ संयोग जानिए
पुष्य नक्षत्र जब गुरुवार एवं रविवार के दिन होता है तब इसे गुरु-पुष्य एवं रवि-पुष्य संयोग ...