इवेंट मैनेजमेंट : तेजी से उभरता कैरियर

जयंतीलाल भंडारी

ND|
ND
हम आए दिन बड़े-बड़े आयोजनों की खबरें पढ़ते रहते हैं। इस तरह के भव्य आयोजनों की व्यवस्था करना ही कहलाता है। इन आयोजनों की सफलता के पीछे जिन लोगों की कड़ी मेहनत होती है, वे कहे जाते हैं।

इवेंट मैनेजर किसी भी आयोजन के आरंभ से अंत तक होने वाले हर कार्यक्रम, हर पड़ाव का सुचारु संचालन करते हैं। इवेंट मैनेजमेंट के अंतर्गत फैशन शो, संगीत समारोह, विवाह समारोह, थीम पार्टी, प्रदर्शनी, कॉर्पोरेट सेमिनार, प्रोडक्ट लॉन्चिंग तथा फिल्मों के प्रीमियर आदि प्रोग्राम आते हैं।

यह क्षेत्र विज्ञापन और मार्केटिंग जगत का एक उच्च स्वरूप है। वर्तमान समय में इवेंट मैनेजमेंट जनसंचार के क्षेत्र में तेजी से उभरते हुए कैरियर के रूप में सामने आ रहा है। आयोजनों की बढ़ती संख्या को देखते हुए यह कहना स्वाभाविक है कि इवेंट मैनेजमेंट लोकप्रिय कैरियर विकल्पों में से एक है।
इस समय भारत में 300 से अधिक इवेंट मैनेजमेंट कंपनियां कार्यरत हैं। इस समय पूरे देश में इवेंट मैनेजमेंट का कारोबार 60 प्रतिशत की दर से बढ़ने की बात कही जा रही है। पहले इवेंट मैनेजमेंट की मांग सिर्फ कॉर्पोरेट क्षेत्र के आयोजनों तक ही सीमित थी लेकिन अब बर्थडे पार्टी से लेकर बड़े कार्यक्रमों में भी इसकी सहायता ली जाने लगी है।

छोटे शहरों में भी इवेंट मैनेजमेंट के लोकप्रिय होने के बाद इसमें अनुभवी लोगों की मांग में बहुत तेजी से वृद्धि हुई है। इवेंट मैनेजमेंट आज के युग का कैरियर है। इसका कार्यक्षेत्र फिलहाल बड़े शहरों व बड़े आयोजनों तक सीमित है लेकिन ये तेजी से उभरता हुआ कैरियर है क्योंकि विभिन्न कंपनियां अपने नए-नए उत्पाद बाजार में उतारने से पहले बड़ी-बड़ी पार्टियां, प्रदर्शनी, बैठकों आदि का आयोजन करती हैं।
पुरस्कार वितरण समारोह, राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन, सौंदर्य प्रतियोगिताएं, फिल्मों के प्रीमियर शो, स्टेज शो, बड़ी-बड़ी शादियों में भी आयोजन की जिम्मेदारी इवेंट मैनेजमेंट कंपनियां निभाने लगी हैं। इवेंट मैनेजमेंट कंपनियां अपने ग्राहकों से उनके कार्यक्रम से जुड़ी सारी जानकारियां ले लेती हैं। मसलन आयोजन का उद्देश्य, प्रकार, आने वाले अतिथियों की संख्या, अनुमानित बजट आदि।
कार्यक्रम की विस्तृत जानकारी लेने के बाद इवेंट मैनेजमेंट कंपनियां आयोजन के कुछ ब्लू प्रिंट्स तैयार करती हैं और आयोजनकर्ता के सामने रख देती हैं। इसमें महत्वपूर्ण होता है आयोजन स्थल व अनुमानित खर्च। यह खाका कई विकल्पों को ध्यान में रखकर बनाया जाता है।

इवेंट मैनेजमेंट के लिए किसी खास योग्यता की जरूरत नहीं होती है। सिर्फ कुशल प्रबंधन क्षमता एवं नेटवर्किंग कुशलता आपको इस क्षेत्र में सफल बना सकती है। जनसंपर्क और प्रबंधन के हुनर वाले स्नातक इससे जुड़ सकते हैं। इवेंट मैनेजमेंट का कोर्स कराने वाले अनेक संस्थान कई तरह के एडवांस डिप्लोमा, पार्टटाइम कोर्सेज, स्नातक तथा परास्नातक की डिग्री प्रदान करते हैं।
इवेंट मैनेजमेंट के डिग्री एवं डिप्लोमा पाठ्यक्रमों के लिए शैक्षणिक योग्यता किसी भी विषय के साथ बारहवीं उत्तीर्ण होना है, जबकि पीजी डिप्लोमा कोर्स के लिए स्नातक होना जरूरी है। इस क्षेत्र में कैरियर बनाने के इच्छुक छात्रों की अंग्रेजी भाषा पर अच्छी पकड़ होनी चाहिए। इसलिए जो युवा अच्छी तर्कशक्ति, भाषा का ज्ञान, आकर्षक व्यक्तित्व व प्रस्तुतीकरण में माहिर हों, नेतृत्व करने की क्षमता, रचनात्मकता प्रबंधन की क्षमता, प्रयोगात्मक सोच, व्यवहार कुशल व्यक्तित्व रखते हों वे इस क्षेत्र का प्रशिक्षण लेकर आगे बढ़ सकते हैं।
इवेंट मैनेजमेंट के क्षेत्र में प्रवेश के लिए आवश्यक है संपर्क क्षेत्र व संपर्क सूत्र। जितने अधिक संपर्क सूत्र होंगे, कार्य करने का मौका उतना ही अधिक मिलेगा। कुशल संवाद क्षमता, संचालन क्षमता तथा संभावित चुनौतियों से निपटने का हुनर किसी भी इवेंट मैनेजर को लोकप्रिय बनाता है। इवेंट मैनेजमेंट के पाठ्यक्रमों में सामान्यतः दो शाखाओं का अध्ययन कराया जाता है। पहला, लॉजिस्टिक मैनेजमेंट, इसके अंतर्गत समारोह स्थल, सेलिब्रिटिज, दर्शक और कार्यक्रम के प्रचार आदि का प्रबंध करना सिखाया जाता है। दूसरा मार्केटिंग, इसमें विभिन्न मीडिया द्वारा इवेंट का प्रचार तथा आयोजकों का प्रबंध करना सिखाया जाता है।
इवेंट मैनेजमेंट के पोस्ट ग्रेजुएट पाठ्यक्रमों में इवेंट मार्केटिंग, पब्लिक रिलेशनशिप तथा स्पांसरशिप, को-ऑर्डिनेशन, प्लानिंग, टीम रिलेशनशिप, टीम मैनेजमेंट से संबंधित नियम तथा लेखा-जोखा रखने की ट्रेनिंग भी दी जाती है। इवेंट मैनेजमेंट के पाठ्यक्रम के दौरान फिल्म अवॉर्ड समारोह, फैशन शो, प्रदर्शनी तथा कॉर्पोरेट इवेंट्स इत्यादि बड़े समारोह के लिए काम करने का सुनहरा मौका भी मिलता है।
इवेंट मैनेजमेंट कंपनी में अच्छा अनुभव लेने के बाद चाहें तो अपनी इवेंट मैनेजमेंट कंपनी भी खोली जा सकती है। चाहें तो आप पीआर व एडवरटाइजिंग एजेंसियों में भी अच्छे वेतन पर नियुक्त हो सकते हैं। यह फील्ड भले ही चुनौतीपूर्ण हो, लेकिन इसमें कमाई बहुत अच्छी है। जिस तरह से इवेंट मैनेजमेंट का क्षेत्र पांव पसार रहा है उसे देखते हुए इनकार नहीं किया जा सकता कि इसमें प्रशिक्षित उम्मीदवारों के लिए कैरियर के भरपूर अवसर हैं।
यह ऐसा क्षेत्र है, जिसमें वेतन की कोई निश्चित सीमा नहीं है। पारिश्रमिक निर्धारण का आधार आयोजित समारोह की सफलता, समारोह का बजट एवं भव्यता पर निर्भर करता है। अपनी काबिलियत से आप इस क्षेत्र में बुलंदी को छू सकते हैं।

यहां से करें कोर्स
- जामिया मिलिया इस्लामिया, मास कम्युनिकेशन रिसर्च सेंटर, नई दिल्ली।- भारतीय जनसंचार संस्थान, जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय परिसर, नई दिल्ली।
- इंटरनेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी, नई दिल्ली।
- यूनिवर्सिटी ऑफ पुणे, गणेशखिंद रोड, पुणे।
- सिंबायोसिस इंस्टिट्यूट ऑफ जर्नलिज्म एंड कम्युनिकेशन, मॉडल कॉलोनी, पुणे।
- सेंट जेवियर्स कॉलेज ऑफ कम्युनिकेशन, मरीन लाइंस, मुंबई।- इंटरनेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ इवेंट मैनेजमेंट, मुंबई।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :