जानिए शैव संप्रदाय की 11 खास बातें

अनिरुद्ध जोशी 'शतायु'|
भगवान शिव से जुड़े संप्रदाय को कहते हैं। शैव संप्रदाय के भी कई विभाजन है। एक समय था जबकि भगवान ब्रह्मा की पूजा आदि का व्यापक प्रचलन था। फिर भगवान विष्णु की पूजा आदि का व्यापक प्रचलन हुआ और फिर भगवान शिव की पूजा आदि का व्यापक प्रचलन बढ़ा। दक्षिण भारत में भगवान शिव की पूजा का खास प्रचलन है। भारत के धार्मिक इतिहास के साथ अंग्रेज काल में छेड़खानी करने और उसका विकृतिकरण करने के कारण धर्म में सैंकड़ों तरह के विरोधाभास फैल गए हैं।
Widgets Magazine
हिंदुओं के मुख्‍यत: 5 संप्रदाय माने गए हैं- शैव, वैष्णव, शाक्त, वैदिक और स्मार्त। चर्वाक संप्रदाय तो लुप्त हो गया लेकिन बाकी सभी संप्रदाय प्रचलन में हैं। सबसे प्राचीन संप्रदाय शैव संप्रदाय को ही माना जाता है। आइए शैव संप्रदाय और धर्म के बारे में जानें कुछ खास 10 बातें।

अगले पन्ने पर कौन थीं की पुत्री, जानिए....

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
Widgets Magazine


Widgets Magazine

और भी पढ़ें :