गर्भावस्था : भ्रांतियाँ व तथ्य(1)

NDND
भ्रांति : गर्भवती स्त्री को दो लोगों के लिए खाना चाहिए

: गल
* गर्भवती को दो लोगों के लिए नहीं बल्कि पौष्टिक व संतुलित आहार लेना चाहिए।

* ज्यादा खाने से चर्बी बढ़ सकती है।

भ्रांति‍ : प्रसव को आसान बनाने के लिए रोज एक चम्मच घी दूध में डालकर पीना चाहिए।

तथ्य : गल
* घी केवल मोटापा बढ़ाएगा

*अब पहले जैसे शारीरिक श्रम जैसे चक्की चलाना, दही मथना वगैरह नहीं होते हैं। इसलिए ज्यादा घी पचता नहीं है।

* शरीर में लोच के लिए व्यायाम की जरूरत है न कि घी की।

भ्रांति : पाल्थी लगाकर बैठने से बच्चे का सिर चपटा हो जाएगा।

तथ्य : गल
* गर्भाशय में शिशु सुरक्षित है और किसी भी अवस्था में उस पर सीधा दबाव नहीं आएगा।

*पाल्थी लगाकर बैठने से कूल्हे के जोड़ खुलते हैं व प्रसव प्रक्रिया आसान होती है।

भ्रांति: यदि पेट अंदर खीचेंगे तो बच्चे को साँस लेने में तकलीफ होगी

तथ्य : गल
* शिशु नाल से ऑक्सीजन लेता है जो कि एक ओर उसकी नाभि से तथा दूसरी ओर प्लेसेंटो से जुड़ी होती है।

ND|
डॉ. तृप्ति राठ
* कभी-कभार पेट को खींचने से बच्चे का भार कूल्हा लेगा तथा पेट की मांसपेशियों में ऑक्सीजन का संचार बढ़ेगा।


और भी पढ़ें :