शिव चतुर्दशी पर पढ़ें शिव पंचाक्षर स्तोत्र...

shiv
 
 
 
नागेंद्रहाराय त्रिलोचनाय भस्मांग रागाय महेश्वराय।
नित्याय शुद्धाय दिगंबराय तस्मे न काराय नम: शिवाय:।।
 
मंदाकिनी सलिल चंदन चर्चिताय नंदीश्वर प्रमथनाथ महेश्वराय। 
मंदारपुष्प बहुपुष्प सुपूजिताय तस्मे म काराय नम: शिवाय:।।
 
शिवाय गौरी वदनाब्जवृंद सूर्याय दक्षाध्वरनाशकाय। 
श्री नीलकंठाय वृषभद्धजाय तस्मै शि काराय नम: शिवाय:।।
 
वषिष्ठ कुभोदव गौतमाय मुनींद्र देवार्चित शेखराय। 
चंद्रार्क वैश्वानर लोचनाय तस्मै व काराय नम: शिवाय:।।
 
यज्ञस्वरूपाय जटाधराय पिनाकस्ताय सनातनाय। 
दिव्याय देवाय दिगंबराय तस्मै य काराय नम: शिवाय:।।
 
पंचाक्षरमिदं पुण्यं य: पठेत शिव सन्निधौ। 
शिवलोकं वाप्नोति शिवेन सह मोदते।।
 
नागेंद्रहाराय त्रिलोचनाय भस्मांग रागाय महेश्वराय। 
नित्याय शुद्धाय दिगंबराय तस्मे 'न' काराय नमः शिवायः।।
 
* शिव चतुर्दशी के दिन विधिपूर्वक व्रत रखकर शिव पूजा-स्तोत्रों का पाठ तथा शिवकथा भी पढ़ना लाभदाय‍ी रहता है। 


और भी पढ़ें :