क्या ये तस्वीर गुजरात से भागते बिहार-यूपी वालों की है..जानिए सच..

Last Updated: शुक्रवार, 12 अक्टूबर 2018 (14:23 IST)
के साबरकांठा जिले में 14 माह की बच्ची से रेप के आरोप में के एक व्यक्ति की गिरफ्तारी के बाद राज्य के कई हिस्सों में उत्तर भारतीयों को निशाना बनाया जा रहा है। जारी हमलों के बीच बड़ी संख्या में उत्तर प्रदेश, बिहार और के लोगों ने राज्य से पलायन कर लिया है। इस बीच एक तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है, जिसे देख लोग कह रहे हैं कि यह फोटो देखकर उन्हें विभाजन का दौर याद आ रहा है।

वायरल तस्वीर में क्या है..

गुजरात से भागते बिहार और यूपी के लोग.. भारत पाकिस्तान विभाजन 1947 याद आ गया’ - इस कैप्शन के साथ वायरल हो रही तस्वीर में आप देख सकते हैं कि एक ट्रेन खचाखच भरी हुई है। लोगों की संख्या इतनी ज्यादा है कि ट्रेन की छत भी लोगों से भरी हुई है, यहां तक कि कुछ लोग तो ट्रेन के गेट के बाहर भी लटके हुए हैं। दावा किया जा रहा है कि ये बिहार और यूपी के लोग हैं, जो गुजरात छोड़कर भाग रहे हैं।

वायरल तस्वीर का सच क्या है..

जब हमने इस वायरल तस्वीर को गूगल पर रिवर्स इमेज सर्च किया तो हमें Russia Beyond
वेबसाइट का एक आर्टिकल मिला। इस आर्टिकल में वायरल तस्वीर लगी थी, जिसमें कैप्शन था- ‘मथुरा के पास गोवर्धन में गुरु पूर्णिमा त्यौहार में भाग लेने के लिए हिंदू श्रद्धालु एक भीड़ भरी ट्रेन में यात्रा करते हुए’। इसपर डेट लिखी है- 24 जुलाई, 2010 और फोटो क्रेडिट है- रॉयटर्स

फिर हमने Reuters, Guru Purnima कीवर्ड के साथ गूगल इमेज पर सर्च किया, तो हमें वह तस्वीर भी मिल गई।

हमारी पड़ताल में पता चला कि यह वायरलतस्वीर गुजरात की नहीं है और न ही गुजरात से आ रही ट्रेन की है। यह तस्वीर 24 जुलाई, 2010 की है और मौका था- गुरु पूर्णिमा का। गुरु पूर्णिमा के दिन श्रद्धालु मथुरा के पास गोवर्धन पर्वत की परिक्रमा करते हैं। इस दौरान उधर जाने वाली ट्रेनों में काफी भीड़ होती है। ऐसी ही एक भीड़ भरी ट्रेन की यह तस्वीर है, जो रॉयटर्स न्यूज एजेंसी के लिए के के अरोड़ा ने खिंची थी।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :