उप्र में भाजपा की 'सुनामी', 2019 को भूल जाएं विपक्ष : उमर

नई दिल्ली| Last Updated: शनिवार, 11 मार्च 2017 (13:15 IST)
नई दिल्ली। नेशनल कांफ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने शनिवार को कहा कि उत्तरप्रदेश में भाजपा की 'सुनामी' है, न कि एक छोटे तालाब में उठने वाली लहर। साथ ही उन्होंने विपक्ष को 2019 को भूलकर 2024 के आम चुनावों के लिए तैयारी शुरू करने की सलाह दी है।
अब्दुल्ला ने कहा कि देशभर में कोई ऐसा नेता नहीं है, जो मोदी का मुकाबला कर सके और कोई ऐसी पार्टी नहीं है, जो 2019 में भाजपा को चुनौती दे सके। जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि विपक्ष को केवल आलोचना करने के बजाय एक सकारात्मक विकल्प के रूप में अपनी रणनीति बदलने की जरूरत है और अन्य राज्यों के नतीजे यह उम्मीद जगाते हैं कि भाजपा अपराजेय नहीं है।
 
उन्होंने ट्विटर पर कहा कि संक्षेप में देशभर में आज ऐसा कोई नेता नहीं है, जो 2019 में मोदी और भाजपा का मुकाबला कर सके। ऐसे में हमें 2019 को शायद भूल जाना चाहिए और 2024 की तैयारी शुरू करनी चाहिए। अब्दुल्ला ने ट्वीट कर कहा कि लगभग सभी विशेषज्ञों व विश्लेषकों ने उत्तरप्रदेश में इस लहर को कैसे छोड़ दिया? यह सुनामी है, न कि एक छोटे तालाब में उठने वाली लहर।
 
उन्होंने कहा कि पंजाब, गोवा और मणिपुर से निश्चित तौर पर यह संकेत मिलेगा कि भाजपा अपराजेय नहीं है बल्कि आलोचना से सकारात्मक विकल्प की ओर रणनीति बदलने की जरूरत है। मैंने पहले भी कहा है और फिर कहूंगा कि मतदाताओं को एक वैकल्पिक एजेंडा देने की जररत है, जो इस पर आधारित हो कि हम बेहतर करेंगे। 
 
अब्दुल्ला ने कहा कि प्रधानमंत्री की आलोचना करने से हमें कुछ हाथ नहीं लगेगा और मतदाताओं को यह बताने की जरूरत है कि उनके पास एक विकल्प मौजूद है जिसके पास एक स्पष्ट रोडमैप है। (भाषा)

Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :