महिलाओं को उम्मीद- काश, बजट में कुछ ऐसा हो जाए...

मोदी सरकार एक फरवरी को अपना आखिरी बजट पेश करने करने जा रही है। अगले साल चुनाव है और सभी को उम्मीद है कि इस बार बजट लोकलुभावन होगा। ऐसे में हर वर्ग को बजट से काफी उम्मीदें है।

अर्थ विशेषज्ञ नम्रता मालपानी के अनुसार, महिलाओं को भी इस बात का इंतजार कि बजट में क्या आएगा? वह कितना बचा पाएगी। क्या वह आयटम्स जो वह इस्तेमाल करती है उसमें क्या फायदा होगा? वह कितना ज्यादा बचा पाएगी?

मालपानी ने कहा कि अगर बजट में जॉब करने वाली महिलाओं को अतिरिक्त फायदा मिले तो उन्हें खुशी होगी। उन्हें घर और बाहर दोनों मैनेज करना होता है। उन्हें इसका फायदा मिलना चाहिए।
वे चाहती हैं कि पुरुषों को पांच लाख की छूट तो महिलाओं को साढ़े पांच लाख की छूट मिले। ताकि 50 हजार की वह अलग से बचत कर सके।

उन्होंने कहा कि बजट में कुछ ऐसे प्रावधान हो ताकि किराना सस्ता हो और घरेलू महिलाओं की बचत भी बढ़ सके।

वे मानती है कि सरकर अगर बजट में टैक्स स्लैब को 2.5 लाख से बढ़ाकर पांच लाख कर देती है तो इससे लोग बचत के लिए प्रोत्साहित होंगे और म्यूचुअल फंड्स, बीमा और एफडी में निवेश बढ़ेगा।
उन्होंने कहा कि सभी निवेश आधार से जुड़े है। टैक्स में छूट बढ़ने से लोग बेहतर प्लानिंग के साथनिवेश कर पाएंगे। उनका यह भी मानना है कि इसका सबसे ज्यादा फायदा बीमा जगत को ही होगा।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :