आर्थिक सर्वेक्षण 'व्यर्थ की कवायद' : शरद यादव

पुनः संशोधित मंगलवार, 30 जनवरी 2018 (16:59 IST)
नई दिल्ली। जनता दल (यूनाइटेड) के बागी नेता शरद यादव ने को 'कागज की बर्बादी' करार देते हुए मंगलवार को सवाल किया कि क्या सरकार ने इसमें विदेशों में जमा वापस लाने का कोई जिक्र किया है।

यादव ने यहां कहा कि ऐसे समय में जब किसान मर रहे हैं, महंगाई के कारण मध्यवर्ग और गरीब तबका परेशान है तथा वंचित तबका खुद को असुरक्षित महसूस कर रहा है। शैक्षणिक एवं संवैधानिक संस्थाओं का दुरुपयोग किया जा रहा है, आर्थिक सर्वेक्षण 'कागज की बर्बादी' और 'व्यर्थ की कवायद 'है।

वित्तमंत्री अरुण जेटली द्वारा संसद में कल पेश आर्थिक सर्वेक्षण 2017-18 पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए यादव ने कहा कि सूचना प्रौद्योगिकी के क्षेत्र तक में रोजगार के अवसरों में तेजी से गिरावट आई है तथा अन्य क्षेत्रों की हालत और बदतर है। उन्होंने सवाल किया कि क्या सरकार ने इस सर्वेक्षण में विदेशों में जमा कालाधन वापस लाने का कोई जिक्र किया है। (वार्ता)

Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :