बजट में मुंबई-बेंगलुरु उपनगरीय यात्रियों को मिली सौगात

पुनः संशोधित गुरुवार, 1 फ़रवरी 2018 (17:34 IST)
नई दिल्ली। वित्तमंत्री अरुण जेटली ने 465 किलोमीटर में फैले के विस्तार के लिए 11,000 करोड़ रुपए आवंटित किए जाने की गुरुवार को घोषणा की और कहा कि सरकार की शहर के रेल नेटवर्क के लिए भी 40,000 करोड़ रुपए आवंटित करने की योजना है।

जेटली ने कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु में भी स्थानीय रेल नेटवर्क के लिए 17,000 करोड़ रुपए आवंटित किए जाने की घोषणा की। कर्नाटक में इस साल बाद में चुनाव होने हैं।

जेटली ने कहा कि देश की जीवनरेखा मुंबई परिवहन प्रणाली का विस्तार किया जाएगा और 11,000 करोड़ रुपए की लागत से 90 किलोमीटर डबल लाइन ट्रैक (दोहरी पटरियां) जोड़ा जाएगा। उन्होंने कहा कि 40,000 करोड़ रुपए की लागत से अतिरिक्त 150 किलोमीटर के उपनगरीय नेटवर्क की भी योजना बनाई जा रही है जिसमें कुछ खंडों में ऊंचे उठे हुए गलियारे शामिल हैं।

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस ने घोषणा के बाद ट्वीट किया- 'मुंबई जश्न मनाओ।' मुंबई में उपनगरीय रेलवे 2,342 स्थानीय रेल सेवाओं का संचालन करता है और रोजाना 75 लाख से अधिक यात्रियों को लेकर जाता है। इस नेटवर्क का पहली बार विस्तार किया जा रहा है।

जेटली ने बेंगलुरु के लिए 17,000 करोड़ रुपए की निधि की घोषणा की। इससे एक ही दिन पहले राज्य मंत्रिमंडल ने बेंगलुरु उपनगरीय रेल परियोजना के पहले चरण को मंजूरी दी थी जिसे आगामी 3 साल में लागू किया जाना है।
यह परियोजना भारतीय रेलवे और राज्य सरकार का संयुक्त उपक्रम है और कुल 349 करोड़ रुपए की लागत का 20 प्रतिशत राज्य सरकार वहन करेगी। जेटली ने कहा कि बेंगलुरु मेट्रोपॉलिटन के विकास की जरूरतों को पूरा करने के लिए 17,000 करोड़ रुपए की अनुमानित लागत से करीब 160 किलोमीटर के उपनगरीय नेटवर्क की योजना बनाई जा रही है।

रेलवे अधिकारियों ने कहा कि फिलहाल बेंगलुरु नेटवर्क में कुल 58 रेलगाड़ियां 116 सेवाएं मुहैया कराएंगी। हर ट्रेन में हर फेरे में 1,800 से 2,000 यात्री ले जाने की क्षमता होगी। (भाषा)

Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :