दुनिया की 5 सबसे खूंखार 'सुंदरियां'

WD|
Widgets Magazine
प्रीति सोनी 
पूरे विश्व में अपन जड़ें जमाता वर्तमान में एक गंभीर वैश्विक समस्या बनकर उभरा है, लेकिन इससे भी आश्चर्य और चिंताजनक बात यह है, कि इसमें महिलाओं की भागीदारी भी लगातार बढ़ती जा रही है। विश्व के अब तक के चर्चित और खतरनाक बम धमाकों और यहां तक कि आत्मघाती हमलों में महिलाओं की उपस्थि‍ति प्रमुख रूप से पाई गई। वैसे तो आंतकवाद में महिलाओं की सहभागिता आज की बात नहीं है, लेकिन साल 2014-2015 में इनकी उपस्थि‍ति उभरकर सामने आई। आतंकवाद में महिलाओं की सहभागिता और स्थि‍ति के कई पहलू सामने आते हैं, जिनमें खूंखार महिला आतंकियों के नाम के अलावा में महिलाओं की भर्ती, उनकी स्थि‍ति, पद, महिलाओं द्वारा आतंक को पनाह देना और आतंक के नाम पर बहकाई गई महिलाओं की अलग-अलग जानकारियां शामिल हैं। कोमलता की मिसाल नारी देह, हाथों में कठोरता के हथि‍यार थामे दुनिया के लिए कट्टरता का उदाहरण बनती दिखाई दीं।  
 

 
ऐसा नहीं है कि सिर्फ आतंक को पैदा करने में महिलाएं सहायक रहीं, बल्कि आतंक का डटकर मुकाबला करने में भी महिलाओं के कदम पीछे नहीं रहे। जांबाज महिला सैनिकों के कुछ नाम आतंक के दुश्मन साबित हुए, तो कुछ को आतंक से लड़ने के हथियार मिले सरकारी फैसले के आधार पर। जानिए और क्या रहा इस वर्ष सकारात्मक और नकारात्मक, आतंक और महिलाओं के बने इस रिश्ते में.... 
Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।