0

राष्ट्रीय युवा दिवस विशेष : युवा पीढ़ी संभल कर विवेकानंद हो जाए

गुरुवार,जनवरी 11, 2018
0
1
एक अविस्मरणीय हस्ती ने कोलकाता की 'सिमुलिया' नाम की पल्ली में 12 जनवरी सन् 1863 को सूर्य की प्रथम किरण के साथ श्री ...
1
2
तुम किसी को दोष मत दो। अगर तुम अपने हाथ आगे बढ़ा कर किसी की मदद कर सकते हो तो करो, अगर नहीं कर सकते हो तो अपने हाथ ...
2
3
स्वामी विवेकानंद ने जितने युवाओं के हृदय को झंकृत किया, शायद उतना किसी और ने किया हो। श्री रामकृष्ण परमहंस के शिष्य ...
3
4
वर्तमान में भारत के युवा जि‍स महापुरुष के विचारों को आदर्श मानकर उससे प्रेरित होते हैं, युवाओं के वे मार्गदर्शक और ...
4
4
5
आधुनिक सदी में भारतीय अध्यात्म के प्रतीक एवं रामकृष्ण परमहंस के शिष्य रहे नरेन्द्रनाथ दत्त का जन्म 12 जनवरी, 1863 को ...
5
6
स्वामी विवेकानंद कहते हैं कि जिस पल मुझे यह ज्ञात हो गया कि हर मानव के हृदय में भगवान है। तभी से मैं अपने सामने आने ...
6
7
स्वामी विवेकानंद की संपूर्ण ग्रंथावली दस खंडों में प्रकाशित हुई है। इसमें पांचवें खंड से प्रारंभ करके नौवें खंड तक पांच ...
7
8
स्वामी विवेकानंद एक व्यक्तित्व नहीं, एक बुनियाद हैं। ऐसी बुनियाद जिस पर भारत का विराट सांस्कृतिक महल खड़ा है। स्वामी ...
8
8
9
1. हे सखे, तुम क्यों रो रहे हो? सब शक्ति तो तुम्हीं में हैं। हे भगवन्, अपना ऐश्वर्यमय स्वरूप को विकसित करो। ये तीनों ...
9
10
भारत की पवित्र भूमि से अनेक महापुरुषों का उदय हुआ है। जिन्होंने 'बहुजन हिताय-बहुजन सुखाय' की उक्ति को चरितार्थ किया ...
10
11
स्वामी विवेकानंद का जन्म 12 जनवरी सन् 1863 को कलकत्ता में एक कायस्थ परिवार में हुआ था। उनके बचपन का नाम नरेन्द्रनाथ ...
11
12
12 जनवरी हो प्रत्येक वर्ष स्वामी विवेकानंद का जन्मदिन या जयंती , राष्ट्रीय युवा दिवस के रूप में मनाते हैं। उनका जन्मदिन ...
12
13
4 जुलाई 1902 आषाढ़ कृष्ण अमावस्या का दिन था। स्वामी विवेकानंद पश्चिम बंगाल के बेलूर मठ में थे। रोज की तरह सुबह जल्दी ...
13
14
स्वामी विवेकानंद का जन्म 12 जनवरी सन्‌ 1863 को हुआ। उनका घर का नाम नरेंद्र दत्त था। उनके पिता श्री विश्वनाथ दत्त ...
14
15
स्वामी विवेकानंद का जन्मदिन राष्ट्रीय युवा दिवस के रूप में मनाए जाने का प्रमु्ख कारण उनका दर्शन, सिद्धांत, अलौकिक विचार ...
15
16
भारत के तथा‍कथित युवाजन स्वामी विवेकानंद को अपना प्रेरणास्रोत्र मानने लगे हैं, लेकिन वे खुद कितने युवा है यह कौन तय ...
16
17
तुमने बहुत बहादुरी की है। शाबाश! हिचकने वाले पीछे रह जाएंगे और तुम कूद कर सबके आगे पहुंच जाओगे। जो अपने उद्धार में लगे ...
17
18
स्वामी विवेकानंद कहते हैं कि जिस पल मुझे यह ज्ञात हो गया कि हर मानव के हृदय में भगवान है। तभी से मैं अपने सामने आने ...
18
19
आप शीर्षक देखकर चौंक गए होंगे। विवेकानंद के प्रति प्रेम रखते हो तो जरूर गुस्सा हो गए होंगे, लेकिन यह सही बात है। ...
19