मजबूत वैश्विक संकेतों के दम पर उबरा शेयर बजार

पुनः संशोधित सोमवार, 12 फ़रवरी 2018 (18:06 IST)
मुम्बई। अधिकतर विदेशी बाजारों से मिले सकारात्मक संकेतों से घरेलू में भी लिवाली तेज हो गई,
जिससे बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 294.71 अंक की बढ़त लेकर 34,300.47 अंक पर और एनएसई का निफ्टी 84.80 अंक उछलकर 10,539.75 अंक पर बंद हुआ।

वैश्विक दबाव में शेयर बाजार गत सप्ताह पांच में चार कारोबारी दिवस गिरावट रहे थे। अमेरिका के महंगाई दर के आंकड़े इस बुधवार को जारी होने हैं और उसे लेकर निवेशक अब भी सशंकित हैं लेकिन निवेश धारणा मजबूत बनी है। घरेलू निवेशकों की लिवाली के दम पर सेंसेक्स 197.58 अंक की बढ़त लेता 34,203.34 अंक पर खुला।

बिजली, रिएल्टी और पूंजीगत वस्तु समूह के सूचकांक में आई तेजी से यह कारोबार के दौरान 34,300.47 अंक के उच्चतम स्तर तक पहुंचा। भारतीय स्टेट बैंक के निराशाजनक तिमाही परिणाम से बैंक के शेयरों में सबसे अधिक गिरावट आई और इससे सेंसेक्स 34,115.12 अंक के दिवस के निचले स्तर तक चला गया। भारतीय स्टेट बैंक तीसरी तिमाही में घाटे में रही है।

कारोबार समाप्ति पर यह 0.87 प्रतिशत चढ़कर 34,300.47 अंक पर बंद हुआ। सेंसेक्स में शामिल 30 में से सात कंपनियों के शेयरों के भाव लुढ़क गए। निफ्टी का ग्राफ भी सेंसेक्स की तरह रहा। यह 63.25 अंक की तेजी में 10,518.20 अंक पर खुला। कारोबार के दौरान 10,555.50 अंक के उच्चतम और 10,485.40 अंक के निचले स्तर से होता हुआ यह गत दिवस की तुलना में 0.81 फीसदी की बढ़त के साथ 10,539.75 अंक पर बंद हुआ।

निफ्टी की 33 कंपनियां तेजी में और 17 गिरावट में रहीं। बीएसई में आज कुल 2,978 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ, जिनमें से 2,033 में तेजी और 770 में गिरावट रही जबकि 175 कंपनियों के शेयरों के भाव अपरिवर्तित रहे।

बीएसई के 20 समूहों में से मात्र दो समूह आईटी और टेक के सूचकांक में गिरावट दर्ज की गई। दिग्गज कंपनियों की तुलना में छोटी और मझोली कंपनियों में अधिक लिवाली देखी गई। बीएसई का मिडकैप 1.31 प्रतिशत यानी 217.55 अंक की बढ़त में 16,852.46 अंक और स्मॉलकैप 1.60 प्रतिशत यानी 290.40 अंक की तेजी में 18,463.38 अंक पर बंद हुआ। (वार्ता)


और भी पढ़ें :