शेयर बाजार में लगातार पांचवें दिन गिरावट

पुनः संशोधित सोमवार, 5 फ़रवरी 2018 (17:23 IST)
मुंबई। कमजोर वैश्विक रुख के बीच बजट में की गई घोषणाओं और रिजर्व बैंक की मौद्रिक समीक्षा बैठक से सशंकित निवेशकों के बिकवाल बने रहने से घरेलू में सोमवार लगातार पांचवें दिन गिरावट का रुख रहा।

सितंबर 2017 के बाद पहली बार शेयर बाजार में लगातार इतने दिनों तक की गिरावट रही है। कमजोर निवेश धारणा के कारण बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 0.88 फीसदी यानी 309.59 अंक लुढ़ककर 35,000 के मनोवैज्ञानिक स्तर के नीचे 34,757.16 अंक पर आ गया।

एनएसई का निफ्टी भी 94.05 अंक यानी 0.87 फीसदी लुढ़ककर 10,666.55 अंक पर बंद हुआ। निवेशकों को आशंका है कि बजट में ग्रामीण और कृषि क्षेत्रों पर की गई सौगातों की बौछार के लिए ही वित्तीय घाटे का लक्ष्य बढाया गया है। उन्हें यह भय है कि न्यूनतम समर्थन मूल्य बढ़ाए जाने से महंगाई बढ़ेगी और बढ़ती महंगाई को देखते हुए रिजर्व बैंक अगली बैठक में नीतिगत दरों को लेकर महत्वपूर्ण फैसला कर सकता है।

शेयर बाजार पर दीर्घावधि पूंजीगत लाभ कर का भी असर है। सरकार ने हालांकि शेयर बाजार की गिरावट के लिए वैश्विक रुख को जिम्मेदार ठहराने की कोशिश करनी शुरू कर दी है। वित्त सचिव हसमुख अधिया का कहना है कि बाजार की यह गिरावट दुनियाभर के शेयर बाजारों में रही गिरावट के कारण है और जल्द ही बाजार इससे उबर जाएगा।

निवेशक इस गिरावट के कारण करीब सात लाख करोड़ रुपए गंवा चुके हैं। 347.90 अंक की गिरावट में खुला सेंसेक्स कारोबार के दौरान 34,874.80 अंक के दिवस के उच्चतम स्तर को छूता हुआ 34,520.80 अंक के निचले स्तर तक लुढ़का। यह अंतत: गत दिवस की तुलना में 0.88 फीसदी की गिरावट में 34,757.16 अंक पर बंद हुआ।

सेंसेक्स में शामिल 30 में 19 कंपनियां लाल निशान में रहीं। निफ्टी का ग्राफ भी सेसेंक्स की तरह रहा। यह 156.30 अंक की गिरावट के साथ 10,604.30 अंक पर खुला। कारोबार के दौरान 10,702.75 अंक के उच्चतम और 10,586.80 अंक के निचले स्तर से होता हुआ यह गत दिवस की तुलना में 0.87 प्रतिशत की गिरावट के साथ 10,666.55 अंक पर बंद हुआ।

निफ्टी की 26 कंपनियां लाल निशान में और 24 हरे निशान में रहीं। बीएसई के 20 समूहों में से 12 समूह लाल निशान में रहे। बीएसई की 2,976 कंपनियों में से 1,081 हरे निशान में, 1,688 लाल निशान में और 207 कंपनियों के शेयरों के भाव अपरिवर्तित रहे।

मझोली और छोटी कंपनियों पर भी बिकवाली हावी रही। बीएसई का मिडकैप 0.09 प्रतिशत यानी 15.15 अंक लुढ़ककर 16,559.55 अंक पर और स्मॉलकैप 0.37 प्रतिशत यानी 65.74 अंक लुढ़ककर 17,781.79 अंक पर बंद हुआ। (वार्ता)

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :