Widgets Magazine

विश्व एथलेटिक्स : हाई ड्रामे के बाद मकवाला 200 मीटर फाइनल में

पुनः संशोधित गुरुवार, 10 अगस्त 2017 (18:54 IST)
लंदन। बोत्सवाना के इसाक मकवाला ने चैंपियनशिप में उनके खतरनाक वायरस से संक्रमण की खबरों के बीच 200 मीटर रेस के सेमीफाइनल में अनुमति मिलने के बाद ट्रैक पर अपना जलवा बिखेरते हुए फाइनल के लिए क्वालीफाई कर लिया है। 
         
मकवाला को बीमारी के कारण पहले 400 मीटर रेस की हीट से बाहर होना पड़ा था और बाद में उन्हें फाइनल में उतरने की अनुमति नहीं दी गई। इसके बाद उन्हें किसी खतरनाक वायरस से संक्रमति होने का खतरा बताकर 200 मीटर से भी बाहर कर दिया गया था। लेकिन इस हाईवोल्टेज ड्रामे के बाद मकवाला को बुधवार अकेले ही हीट में उतरने का मौका दिया गया, जहां उन्होंने 20.20 सेकंड का समय लेकर फाइनल में जगह बना ली।
         
बोत्सवाना के 30 वर्षीय धावक सोमवार को 200 मीटर हीट में हिस्सा नहीं ले सके थे क्योंकि आईएएएफ ने उन्हें संक्रमित होने का हवाला देते हुए 48 घंटे तक बिल्कुल अकेले रहने के निर्देश दिए थे लेकिन इस वर्ष दुनिया के सबसे तेज़ धावक रहे मकवाला ने हल्की बारिश के बीच यहां अकेले ही हीट में 20.53 सेकंड के क्वालिफाइंग समय से ज्यादा बेहतर समय निकालकर न सिर्फ फाइनल में क्वालीफाई किया, बल्कि अपनी बीमारी की खबरों को भी दरकिनार कर दिया जिसकी वजह से वह 400 मीटर में स्वर्ण पदक से चूक गए।
          
मकवाला को इससे पहले स्टेडियम में घुसने तक की अनुमति नहीं थी और उनके 200 मीटर में हिस्सा लेने की उम्मीद बिल्कुल समाप्त हो चुकी थी लेकिन अकेले हीट में उतरने का मौका मिलने के बाद उन्होंने बढ़िया तेजी दिखाई और स्टेडियम में मौजूद दर्शकों के सामने लाइन पार करने के बाद पुश-अप भी किए और अपनी फिटनेस का संकेत दिया।
               
बोत्सवाना एथलीट को सोमवार खाना खाने के बाद फूड प्वाइज़निंग हो गई थी और इंग्लिश स्वास्थ्य नियमों के अनुसार इसके लिए उन्हें 48 घंटे तक बिल्कुल अलग रखा गया था लेकिन इससे बोत्सवाना एथलेटिक्स और आईएएएफ के बीच काफी बहस छिड़ गई थी जबकि इस बीच मकवाला लगातार अपने फिट होने की दुहाई देते रहे थे।
         
मकवाला को दक्षिण अफ्रीकी धावक और पूर्व विश्व चैंपियन वैन निकर्क का सबसे बड़ा प्रतिद्वंद्वी माना जा रहा था और अब 200 मीटर फाइनल में दोनों के बीच स्वर्ण के लिए कड़ी टक्कर की उम्मीद की जा रही है जहां निकर्क मकवाला की अनुपस्थिति में अपना 400 मीटर खिताब बचाने में कामयाब रहे थे।
                
अमेरिका के माइकल जॉनसन के 1995 में 200 और 400 मीटर विश्व चैंपियनशिप में डबल खिताब के बाद अब दक्षिण अफ्रीकी धावक की निगाहें इस उपलब्धि पर लगी हैं। आईएएएफ ने कहा नौ अगस्त को मकवाला के अलग थलग रहने की समयसीमा समाप्त होने के बाद हमने उनकी मेडिकल जांच की और उन्हें फिट घोषित किया। हम मौजूदा नियमों के तहत उन्हें 200 मीटर फाइनल में उतरने की अनुमति दे रहे हैं क्योंकि वह क्वालिफाइंग समय पार कर चुके हैं। (वार्ता)
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
Widgets Magazine
Widgets Magazine