जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में राष्ट्रीय खेल संग्रहालय

Last Updated: बुधवार, 23 अगस्त 2017 (17:34 IST)
नई दिल्ली। खेल के दीवानों को देश की राजधानी दिल्ली में का तोहफा मिलने वाला है जिसके प्रस्ताव पर केंद्रीय खेलमंत्री ने अपनी मुहर लगा दी है।
यहां पर भारतीय खिलाड़ियों की विभिन्न खेलों में उपलब्धियों को दर्शाया जाएगा, जो युवाओं के लिए खेल से जुड़ी जानकारियां पाने का अवसर प्रदान करेगा।

केंद्रीय खेल मंत्रालय में राष्ट्रीय खेल संग्रहालय का निर्माण करने जा रहा है, जो अपनी तरह का पहला स्टेडियम होगा। इस बारे में 3 महीने पहले निर्णय लिया गया था जिस पर खेलमंत्री ने कई बैठकों और विस्तार से चर्चा के बाद अपनी मुहर लगा दी है।
गोयल ने कहा कि यह संग्रहालय खेलों में देश की उपलब्धि को दिखाएगा और साथ ही देश के पारंपरिक खेलों पर भी ध्यान केंद्रित करेगा। इस संग्रहालय का मकसद देश में खेलों को लोकप्रिय बनाना है, जहां खेलों से जुड़े कई स्मृति चिन्ह होंगे। यहां पर भारतीय खिलाड़ियों की विभिन्न खेलों में उपलब्धियों को दर्शाया जाएगा, जो युवाओं के लिए खेल से जुड़ी जानकारियां पाने का अवसर प्रदान करेगा।

खेलमंत्री ने साथ ही सभी पूर्व और मौजूदा खिलाड़ियों के साथ-साथ आम जनता से भी राष्ट्रीय खेल संग्रहालय के लिए खेलों से जुड़े अहम स्मृति चिन्ह का योगदान देने के लिए अपील की है। उन्होंने बताया कि इस संग्रहालय में विभिन्न खेलों से जुड़े इतिहास और प्रतियोगिताओं को ऑडियो-विजुअल माध्यम से भी दिखाया जाएगा।

इसके अलावा यहां युवा खिलाड़ियों के लिए खेल और शारीरिक फिटनेस से जुड़ी जानकारियों के लिए पुस्तकालय, पेंटिंग गैलरी, एम्फीथिएटर की सुविधा भी होगी। साथ ही कैफेटेरिया, खेलों से जुड़ी वस्तुओं के लिए दुकान आदि भी बनाई जाएंगी। खेलमंत्री ने बताया कि संग्रहालय के निर्माण का पहला चरण जल्द ही शुरू हो जाएगा। (वार्ता)

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
Widgets Magazine



और भी पढ़ें :