भारतीय महिला हॉकी टीम की लगातार चौथी हार

पुनः संशोधित शुक्रवार, 19 मई 2017 (18:09 IST)
हैमिल्टन। भारतीय सीनियर महिला हॉकी टीम को न्यूजीलैंड के खिलाफ पांच मैचों की सीरीज के चौथे मैच में 0-3 से एकतरफा हार झेलनी पड़ी है, जो लगातार उसकी चौथी हार है। मेहमान टीम के खिलाफ पहले ही जीत की हैट्रिक लगाने के बाद न्यूजीलैंड ने चौथे मैच में भी उसी लय को कायम रखा।





भारतीय महिला टीम न्यूजीलैंड से सीरीज में 0-4 से पिछड़ चुकी है। भारत को इससे पहले मैचों में 1-4 से, 2-8 से और फिर 2-3 से हार झेलनी पड़ी है।



Widgets Magazine
भारत ने शुक्रवार को हुए इस मुकाबले में हालांकि पिछली गलतियों को सुधारते हुए
कुछ बेहतर शुरुआत दिखाई लेकिन न्यूजीलैंड अपने जबरदस्त डिफेंस की बदौलत मजबूती से डटा रहा। कीवी महिलाओं ने फिर मैच के 14वें मिनट में रेचेल मैक्कैन के गोल से पहले क्वार्टर में 1-0 की बढ़त बना ली।



















मेहमान टीम के खिलाफ पहले ही जीत की हैट्रिक लगाने के बाद न्यूजीलैंड ने चौथे मैच में भी उसी लय को कायम रखा। टेसा जॉप ने फिर तीन मिनट बाद 17वें मिनट में ही दूसरा गोल दाग कर स्कोर 2-0 कर दिया और भारत पर दबाव को और बढ़ाया। कीवी टीम ने यह गोल पेनल्टी कार्नर पर किया।

पिछड़ने के बाद भारतीय स्ट्राइकरों ने वापसी की कोशिश की लेकिन कीवी डिफेंस के सामने उनकी गोल की हर कोशिश विफल हो गई। फार्म में खेल रहीं रेचेल ने मैच में फिर अपना दूसरा गोल भी हासिल किया और 26वें मिनट में इस गोल से टीम को 3-0 से आगे कर दिया। हॉफ टाइम तक फिर मेजबान टीम इसी स्कोर पर रही।








मैच के फाइनल दो क्वार्टर में भारतीय कीपर रजनी एतिमाररू ने पोस्ट के सामने दृढ़ता दिखाई और विपक्षी टीम के कई प्रयासों को विफल किया। उन्होंने न्यूजीलैंड के खिलाफ कई जबरदस्त बचाव करते हुए
इस स्कोर में कोई और इजाफा नहीं होने दिया। वहीं भारतीय रक्षापंक्ति ने भी तीसरे और चौथे क्वार्टर में कीवी महिलाओं को और गोल करने से रोका।






मैच में भारतीय महिलाओं ने जहां गेंद को 57 फीसदी अपने कब्जे में रखा तो वहीं न्यूजीलैंड 43 फीसदी ही गेंद को अपने कब्जे में रख सकी। हालांकि उन्होंने भारत को गोल के मौके नहीं दिए। फाइनल क्वार्टर में भारत ने वापसी के लिए काफी आक्रामकता दिखाई लेकिन न्यूजीलैंड ने 3-0 से मैच जीतने में कामयाब रहा। (वार्ता)

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
Widgets Magazine


Widgets Magazine

और भी पढ़ें :